Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

आदिवासी धार्मिक झंडा जलाने के विरोध में आज रांची बंद, चप्पे-चप्पे पर पुलिस मुस्तैद ।

आदिवासी धार्मिक झंडा जलाने के विरोध में आज रांची बंद, चप्पे-चप्पे पर पुलिस मुस्तैद । रांचीः उपद्रवियों द्वारा आदिवासी धार्मिक झंडा जलाए जाने के विरोध में झारखंड के आदिवासी संगठनों ने आज यानी 8 अप्रैल को रांची में एक दिवसीय बंद बुलाया है। झारखंड पहान महासंघ, केंद्रीय सरना समिति, सरना प्रार्थना महासभा और अन्य आदिवासी संगठनों ने बंद को अपना समर्थन देते हुए झंडा जलाए जाने का विरोध किया है. ये संगठन सरना झंडा जलाए जाने के विरोध में बंद के पूर्व संध्या जयपाल सिंह मुंडा स्टेडियम से लेकर अल्बर्ट एक्का चौक तक शुक्रवार को मशाल जुलूस निकाला था. साथ ही दोषी असामाजिक तत्वों की गिरफ्तारी की मांग भी की थी। वही आज अपने पूर्व निर्धारित बंद के तहत रांची शहर में शनिवार की सुबह से झारखंड पाहन महासंघ सहित विभिन्न आदिवासी संगठन और सरना समिति के सदस्य सरना झंडा उखाड़ने और जलाने के विरोध में सड़क पर उतर कर जगह-जगह विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। कई जगहों पर लोगों ने सड़क पर टायर जलाकर आवागमन को रोक दिया है और उपद्रवियों के गिरफ्तारी की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं । वही किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना ना हो इसको लेकर

रांची के तमाम इलाके में भारी संख्या में पुलिस जवानों को तैनात किया गया है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस मुस्तैद नजर आयी ।
झारखंड पाहन संघ के अध्यक्ष जगदीश पाहन ने कहा कि सरना झंडा को अपमानित किया जाना निंदनीय है और इसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वहीं जगदीश पाहन ने मांग किया कि असामाजिक तत्वों की गिरफ्तारी जल्द से जल्द हो वही विरोध व्यक्त कर रहे हैं लोगों ने कहा कि आदिवासी अपनी परंपरा व संस्कृति के प्रति जागरूक हो चुके हैं। साथ ही अपने सम्मान की रक्षा के लिए आर-पार की लड़ाई लड़ने को तैयार हैं. उन्होंने कहा कि आज आठ अप्रैल को रांची बंद ऐतिहासिक होगा, लेकिन इस दौरान एंबुलेंस, स्कूल बसों और डेयरी और दवा की दुकानों को छूट दी गई है।