Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

उप विकास आयुक्त की अध्यक्षता में हुई डीएलसीसी की बैठक, जिला का संभाब्यतायुक्त साख योजना 2023-24 का विमोचन।

रामगढ़: जिला समाहरणालय सभागार में उप विकास आयुक्त श्री नागेंद्र कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में 30 सितंबर 2022 को समाप्त तिमाही की जिला स्तरीय डीएलसीसी की बैठक संपन्न हुई।बैठक के दौरान उप विकास आयुक्त ने सबसे पहले पूर्व की बैठकों में दिए गए निर्देशों के प्रति हुए कार्यों की समीक्षा की। बैठक के दौरान वित्तीय वर्ष 2022-23 की दूसरी तिमाही की उपलब्धियों का बैंकवार मूल्यांकन, सीडी रैशियो, पीएमईजीपी, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभुकों को केसीसी ऋण से आच्छादित करने, डेयरी, पोल्ट्री, फिशरी किसानों के लिए वर्किंग कैपिटल राशि केसीसी के तहत उपलब्ध कराने आदि के संबंध में विस्तार पूर्वक चर्चा की गई।
बैठक के दौरान डीडीएम नाबार्ड श्री उपेंद्र कुमार साह द्वारा क्षेत्र विकास योजनाओं जैसे गव्य विकास, बकरी पालन परियोजनाओं के संबंध में किए जा रहे कार्यो तथा उपलब्ध सब्सिडि की जानकारी दी गई। बैठक के दौरान उपायुक्त ने विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधियों से कहा कि वे अपने स्तर से सुनिश्चित करें कि जिले के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में रह रहे किसानों को प्रोत्साहित किया जाए। इसके साथ ही उन्हें उनके कार्यों हेतु विभिन्न प्रकार के ऋण भी उपलब्ध कराया जाए ताकि समाज में एक बेहतर बदलाव आ सकें। बैठक के दौरान उप विकास आयुक्त सहित अन्य अधिकारियों ने वर्ष 2023-24 के लिए रामगढ़ जिला का संभाब्यतायुक्त साख योजना का शुभारंभ किया गया। जिला के लिए 1229.80 करोड़ के संभाब्यता का आकलन किया गया हैं जिसमे कृषि हेतु 464.15 करोड़, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग के लिए 540.05 करोड़ , शिक्षा के लिए 27.32 करोड़ , आवास के लिए 37.91 करोड़, एसएचजी/ जेएलजी के लिए 132.25 करोड़ के संभाव्यता का आकलन किया गया हैं। बैठक में उप विकास आयुक्त के साथ आरबीआई से एलडीओ, एलडीएम, डीडीएम नाबार्ड, जेएसएलपीएस के डिपीएम, आत्मा परियोजना निदेशक, जिला गव्य पदाधिकारी के साथ साथ विभिन्न बैंक के जिला समन्वयक तथा ब्रांच मैनेजर उपस्थित थे।