भारत बंद के समर्थन में बंद रहा रामगढ़ बाजार समिति।

भारत बंद के समर्थन में बंद रहा रामगढ़ बाजार समिति।

देश के कई संगठनों के आह्वान पर भारत बंद का रामगढ़ बाजार समिति में दिखा असर।

व्यापार बन्द होंने से करोड़ों का व्यवसाय प्रभावित होने की संभावना।

विरोध का नेतृत्व कर रहे हैं व्यवसाई अमित साहू ने कहा
नन ब्रांडेड खाद्य पदार्थ पर 5% की दर से जीएसटी लगना महंगाई को पंख लगाने जैसा कार्य होगा ।
केंद्र सरकार अपने निर्णय पर पुनः विचार करें।

रामगढ़ : आज देश के कई खाद्यान्न व्यवसायिक संगठन के द्वारा भारत बंद का आह्वान किया गया था जिसका रामगढ़ बाजार समिति में भी असर देखने को मिला। बाजार समिति की लगभग सभी दुकानें पूर्ण रुप से बंद रही। व्यवसायियों ने अपनी एकजुटता का परिचय देते हुए केंद्र सरकार से जल्द से जल्द जीएसटी वापस लेने की मांग की। इस अवसर पर अध्यक्ष अमित साहू ने कहा कि अगर यह 5% की दर से नन ब्रांडेड खाद्य पदार्थ पर जीएसटी लगती है तो महंगाई चरम सीमा पर पहुंचेगी और आम जनता ऐसे ही महंगाई से त्रस्त हैं और भी आगे यह जीएसटी लगने से महंगाई को पंख लगाने वाली सरकार होगा। श्री साहू ने जल्द से जल्द केंद्र सरकार से नन ब्रांडेड खाद पदार्थ पर 5% की दर से लगा हुआ जीएसटी वापस लेने की मांग की है ताकि आम जनता महंगाई से राहत के सांस ले। इस अवसर पर राइस मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय अग्रवाल ने कहा कि यह 5% की दर से जीएसटी लगने से आने वाले दिनों में हजारों की संख्या में लघु उद्योग पर व्यापक असर पड़ेगा। और लघु उद्योग संचालकों को भविष्य में और भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। इसीलिए जल्द से जल्द इस बढ़े हुए जीएसटी को केंद्र सरकार को तत्काल प्रभाव से रोकना चाहिए और आगे व्यवसायियों से मंथन कर आगे की रणनीति बनानी चाहिए।
इस अवसर पर प्रदीप बरेलिया,मनोज बंसल ,मुकेश अग्रवाल ,अरुण अग्रवाल ,अनिल अग्रवाल, भोलू अग्रवाल, जयप्रकाश अग्रवाल, श्याम प्रसाद, गणेश साव,जितेंद्र अग्रवाल अमित जैन, लाला प्रसाद , प्रकाश गुप्ता, सज्जन बरेलिया, समेत अनेकों व्यवसाई एवं अन्य लोग उपस्थित थे।

Whats App