समाजसेवी एवं रालोजपा अध्यक्ष उमेश कुशवाहा का निधन

लोगों के सुख दुख में हमेशा तत्पर रहते थे उमेश कुशवाहा

रामगढ़ : जिला के प्रसिद्ध समाजसेवी और विभिन्न राजनीतिक दलों से जुड़े उमेश कुशवाहा का आकस्मिक निधन सोमवार की दोपहर को हो गया है। कुशवाहा विकास समिति सह कुशवाहा धर्मशाला के आजीवन सदस्य एवं छावनी परिषद के पूर्व सदस्य रहे स्वर्गीय राम प्रसाद कुशवाहा के बड़े सुपुत्र उमेश कुशवाहा का आकस्मिक निधन हो गया है। ईश्वर इनकी आत्मा को शांति प्रदान करें एवं अपने चरणों में स्थान दें। समाजसेवी उमेश कुशवाहा के निधन पर लोगों ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उमेश कुशवाहा हर सुख दुख में साथ देता था। खासकर गरीब गुरबा को हमेशा साथ देता था।उनके कामों को कराता था।
जानकारी के अनुसार उमेश कुशवाहा रोजना की भांति शहर भ्रमण कर घर लौटा। सुबह 9:00 बजे के लगभग घर में वह फिसल कर गिर पड़ा। जिससे उसके सिर में गंभीर चोट लगी। जिससे वह अचेत हो गया। जिसके बाद घर वाले तत्काल उमेश कुशवाहा को होप हॉस्पिटल ले गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद घरवालों ने उमेश कुशवाहा को सदर अस्पताल ले गए।जहां चिकित्सकों ने उमेश कुशवाहा को मृत बताया। बताया जाता है कि उमेश कुशवाहा का एक पुत्र कुणाल कुमार और एक पुत्री प्रगति कुमारी है। शहर में उमेश कुशवाहा की मौत की खबर लोग सुनकर दुखी हुए हैं।

Whats App