Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को हाईकोर्ट से मिली जमानत

10 लाख के निजी मुचलके पर मिली जमानत

चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को हाईकोर्ट से मिली जमानत

10 लाख के निजी मुचलके पर मिली जमानत

अशोक कुमार

रांचीः झारखंड हाईकोर्ट से चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव को रेग्यूलर जमानत मिल गयी है. चारा घोटाला मामले में राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो और बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री के खिलाफ डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ से अधिक की राशि की निकासी मामले पर जस्टिस अमरेस कुमार सिंह की अदालत में सुनवाई हुई. हाईकोर्ट में सीबीआइ के अदालत के फैसले को लालू प्रसाद यादव की तरफ से चुनौती दी गयी थी. अदालत ने 10 लाख रुपये के निजी मुचलके पर राजद नेता को जमानत देने का फैसला दिया. अदालत ने सीबीआइ की दलीलों को खारिज कर दिया. सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ एडवोकेट कपिल सिब्बल लालू प्रसाद की तरफ से अदालत में पक्ष रख रहे हैं.
उन्होंने कहा कि चारा घोटाला मामले में अब तक लालू प्रसाद को जितनी सजा सुनायी गयी है, उसमें से आधी सजा वे काट चुके हैं.  कपिल सिब्बल ने कहा कि लालू 40 महीने तक जेल की सजा काट चुके हैं.  लालू प्रसाद कई बीमारियों से पीड़ित हैं, मालूम हो कि सीबीआइ की विशेष अदालत ने डोरंडा कोषागार से निकासी मामले में लालू प्रसाद को पांच वर्ष की सजा और पांच लाख रुपये का जुर्माना किया था. लालू प्रसाद की तरफ से अधिवक्ता देवर्षी मंडल ने भी बहस के दौरान दलीलें दी. सीबीआइ की तरफ से एडवोकेट प्रशांत पल्लव ने रखा पक्ष.