Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

आर्मी के जवानों ने स्कूली बच्चों के बीच हथियारों का डिसप्ले कर, कैसे प्रयोग होता है यह भी बताया


रामगढ़ : भारतीय सेना की जीत के 50 वे वर्ष को रामगढ़ पंजाब रेजिमेंट सेंटर ने आज स्वर्णिम विजय वर्ष के रूप में मनाया, स्कूली बच्चों के बीच हथियारों की प्रदर्शनी लगाकर उन्हें भारतीय सेना के दायित्वों एवम कर्तव्यों के बारे में समझाते हुए सेना में सेवा देने के प्रति किया जागरुक।
1971 में हुए भारत-पाक युद्ध में भारत सेना की जीत के 50वें वर्ष को रामगढ़ स्थित भारतीय सेना स्वर्णिम विजय वर्ष के रूप में मना रही है। इस अवसर पर डीएवी बरकाकाना के परिसर में हथियारों की एक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया जिसका उद्देश्य छात्रों में देशभक्ति की भावना जागृत करते हुए छात्रों को सशस्त्र बलों में शामिल होने के लिए प्रेरित करना था। इस शस्त्र प्रदर्शनी में आस – पास के दस विद्यालयों के करीब 500 छात्रों को आमंत्रित किया गया था। पूरा विद्यालय परिसर एक ‘छावनी’ का अहसास दे रहा था। इस प्रदर्शनी का आयोजन डॉ. उर्मिला सिंह, प्राचार्या डीएवी बरकाकाना सह क्षेत्रीय अधिकारी डी ए वी पब्लिक स्कूल, झारखंड जोन-डी और पंजाब रेजिमेंटल सेंटर के लेफ्टिनेंट कर्नल नीलेश भागवत के मार्गदर्शन में किया गया। लेफ्टिनेंट कर्नल नीलेश भागवत और अन्य सैन्यकर्मियों ने प्रदर्शनी में रखे गए विभिन्न हथियारों के बारे में जानकारी दी। पंजाब रेजीमेंट के जवानों ने युद्ध की स्थितियों में दुश्मन को बेअसर करने का एक कार्यक्रम भी प्रदर्शित किया। इस मौके पर लेफ्टिनेंट कर्नल नीलेश भागवत ने अपने संबोधन में छात्रों को सेना के पवित्र कर्तव्य के बारे में बताया और छात्रों से सशस्त्र बलों में शामिल होने की अपील की। इस मौके पर लेफ्टिनेंट निलेश भागवत ने बताया कि आज की तारीख में 1971 को भारतीय सेना ने पाकिस्तान पर जीत हासिल की थी और 27 तारीख को इन्फेंट्री डे मनाया जाता है इन दोनों अवसरों पर आज बच्चों के लिए हथियारों की प्रदर्शनी लगाई गई, इसका मुख्य उद्देश्य बच्चों में देश प्रेम की भावना जगे और इंडियन आर्मी में जो हथियार इस्तेमाल होते हैं उनसे वे रूबरू हो जाए तथा इंडियन आर्मी के चैलेंज के बारे में उन्हें जानकारी हो।
इस मौके पर एक स्कूली छात्रा ने बताया कि यहां आकर हमें यह जानकारी हुई कि भारतीय सेना देश की रक्षा के लिए कैसे अपनी जान न्योछावर कर देती है।
एक दूसरी छात्रा ने बताया कि यहां आने के बाद हमारे देश प्रेम की भावना और मजबूत हुई है।
प्रदर्शनी के मुख्य भूमिका निभाने वाले एक छात्र ने बताया कि यहां आने के बाद मेरे अंदर देश प्रेम की भावना जागृत हो रही जिससे मैं बता नहीं सकता ।
पूरे कार्यक्रम में एक आयोजक की भूमिका निभाने वाली बरकाकना डीएवी स्कूल की प्राचार्य ने बताया कि भारतीय सेना द्वारा अस्त्र शस्त्र प्रदर्शन के साथ हमारे स्कूली बच्चे भारतीय सेना में कैसे जाएं इसके बारे में उन्हें जागरूक किया गया, यह जानकारी बच्चों के लिए आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगा।