Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने मुख्यमंत्री और परिवहन आयुक्त को लिखा पत्र, कहा,ई-पास के नियमों में बदलाव की जरूरत

रामगढ़। जिला की सबसे बड़ी व्यवसायिक संस्थान रामगढ़ चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं परिवहन आयुक्त रांची को पत्र लिखकर झारखंड राज्य में लाकडाउन (स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह) के दौरान ई-पास में हो रही समस्याओं के संबंध में उन्हें अवगत कराया है। पत्र में रविवार से बढ़ाई गई पाबंदियों के तहत शहर के अंदर भी वाहनों का परिचालन को अनिवार्य किए गए फैसले पर पुनः विचार करने का मांग भी किया गया है।

आगे इसी कड़ी में रामगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष पंकज प्रसाद तिवारी एवं सचिव भूपेंद्र सिंह उर्फ पप्पू ने लिखा है कि आम लोगों को हो रही परेशानी के मद्देनजर नियम में बदलाव की आवश्यकता है।

आगे उन्होंने लिखा है कि जिले के अंदर भी वाहनों के परिचालन पर ईपास को अनिवार्य किए जाने का फैसले उचित नहीं है।इसमें छोटे छोटे व्यापारियों के साथ साथ आम आवाम (आम लोग) को भी काफी परेशानी हो रही है। श्री तिवारी ने आगे बताया कि सरकार जनहित में कई अच्छे और कड़े कदम उठा रही है जो सराहनीय है। लेकिन ई-पास सभी के लिए आवश्यक हो इस पर फिर से विचार करने की आवश्यकता है।

आगे उन्होंने कहा कि ही वैसे दुकान,औद्योगिक इकाइयां जिन्हें आवश्यक वस्तु की बिक्री एवं औद्योगिक इकाइयों को खोलें या चालू रखने की अनुमति दी गई है।उन दुकानों एवं औद्योगिक इकाइयों में काम करने वाले कर्मियों के आवागमन में भी पास की बाध्यता ,आवश्यक वस्तुओं की दुकानें एवं औद्योगिक इकाइयों के संचालन के साथ-साथ आवश्यक वस्तुओं, दिहाड़ी मजदूर प्रतिदिन फल, सब्जी ,दूध और पत्ते लाने वाले या बेचने वालों में भी बड़ी समस्या उत्पन्न होगा।

रामगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री उपरोक्त समस्याओं के मद्देनजर आग्रह करता है कि श्रीमान के द्वारा लिया गया फैसले पर पुनः विचार किया जाए। ऐसे फैसलों पर पुनः विचार भी किया जाना कतई गलत नहीं होगा!