आर्थिक नीतियों के विरोध में बंद रहा चितरपुर के सभी बैंक

yamaha

Ramgarh/News lens:सार्वजनिक बैंकों के अधिकारी और कर्मचारी शुक्रवार को बैंकों में तालाबंदी कर बैनर-पोस्टर लेकर दो दिन की हड़ताल पर चले गये। झारखण्ड के बैंक कर्मचारी बैंकों के नौ यूनियनों का शीर्ष संगठन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) द्वारा शुरू की गयी दो दिवसीय देशव्यापी बैंक हड़ताल में शामिल हो गये हैं।

हड़ताल का असर रजरप्पा कोयलांचल सहित चितरपुर में भी देखने को मिला। रजरप्पा व चितरपुर के सभी बैंक बन्द पाए गए। हालांकि, निजी, सहकारी और ग्रामीण बैंक खुले रहे। बैंक बन्द रहने से ग्राहकों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ा। वही सरकारी राजस्व का भी नुकसान हुआ है। बताते चले कि इसी माह आठ जनवरी को भी बैंकों में हड़ताल थी। 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियों के विरोध में आठ जनवरी को भारत बंद का ऐलान किया था। वहीं, बैंक यूनियनों ने कहा है कि अगर तय समय में हमारी मांगों का निराकरण नहीं किया गया, तो आगामी एक अप्रैल से सभी बैंक अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.