Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

प्रोजेक्ट तो मिल गया, अब अनुसंधान करने खरीद रहे मशीनें

जबलपुर। वेटरनरी विश्वविद्यालय ने इन दिनों अपने अनुसंधान की संख्या ही नहीं बढ़ाई है बल्कि उसमें शामिल लोगों की भी संख्या और सुविधा बढ़ा दी है। अनुसंधान में बेहतर तरीके का कार्य हो, इसके लिए उपकरण खरीदे जा रहे हैं। यही वजह है कि वेटरनरी विश्वविद्यालय ने अपने सभी अनुसंधान का काम तेज कर दिया है, लेकिन अधिकांश काम उपकरण न होने की वजह से रुका हुआ है। अब इस समस्या का समाधान करने के लिए वेटरनरी विवि प्रशासन ने उपकरण खरीदने की तैयारी की है। विवि ने सभी प्रोजेक्ट का अध्ययन कर उनके प्रभारियों से उपकरण की जानकारी मांगी है। इसके बाद वह संबंधित उपकरण से जुड़ी कंपनियों से खरीदारी करने के लिए टेंडर जारी करने जा रहा है। हालांकि इससे पहले टेंडर पूर्व प्रक्रिया करने अधारताल स्थित विवि के कुलपति भवन में बैठक हुई, जिसमें विवि के सभी डीन और डायरेक्टर उपस्थित रहे।

नए प्रोजेक्ट, नए उपकरण : विवि को इस बार 7 से 8 नए बड़े प्रोजेक्ट मिले हैं। यह प्रोजेक्ट भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद से लेकर मंडी बोर्ड तक के हैं। अब इन प्रोजेक्ट पर शोध कार्य करने के लिए सभी प्रोजेक्ट प्रभारियों से उपकरण खरीदने की जानकारी मांगी है। हालांकि कुलपति प्रो.एसपी तिवारी के निर्देश के बाद उपकरण खरीदी प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने कई बड़े बदलाव कर दिए गए हैं। वहीं दूसरी ओर विवि प्रशासन का कहना है कि नियम के मुताबिक ही टेंडर प्रक्रिया की जाएगी। प्रोजेक्ट में जो उपकरण चाहिए, वह गुणवत्तापूर्ण हो, इसका ध्यान रखने निर्देश दिए गए हैं। यदि कहीं गड़बड़ी सामने आती है तो संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।