Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

पथरिया विधायक रामबाई के पति को गिरफ्तार करने घर पहुंची पुलिस, मकान की नपती

दमोह। हटा निवासी कांग्रेसी नेता देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड के आरोपित पथरिया विधायक रामबाई सिंह परिहार के पति गोविंद सिंह परिहार को गिरफ्तार करने के प्रयास के तहत भारी मात्रा में पुलिस बल विधायक राम बाई के घर पहुंचा। सागर नाका के समीप मौजूद विधायक रामबाई के घर पर बड़ी मात्रा में पुलिस बल मौजूद है।

दमोह तहसीलदार डॉक्टर बबीता राठौर और राजस्व अमला भी विधायक रामबाई के घर पहुंचा है। अमला जेसीबी भी लेकर आया है। संभावना है कि अवैध निर्माण को तोड़ा जाएगा, इसलिए बबीता राठौर राजस्व के नक्शे का अवलोकन कर रही है

पथरिया विधायक रामबाई सिंह परिहार के पति गोविंद सिंह की गिरफ्तारी के लिए दमोह एसपी हेमंत चौहान ने 5 टीमों का गठन किया है। इसके अलावा एसटीएफ एडीजी विपिन महेश्वरी भोपाल से दमोह पहुंचे हैं। उनके साथ भी टीम पहुंची है जो गोविंद सिंह की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही हैं।

ज्ञात हो कि करीब डेढ़ साल पहले हटा निवासी कांग्रेसी नेता देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड में विधायक रामबाई के पति गोविंद सिंह और करीब 22 लोग आरोपित बनाए गए थे, जिसमें से पुनः विवेचना के बाद रामबाई के पति गोविंद सिंह का नाम एफआइआर से हटा दिया गया था। बाद में हटा न्यायालय में पीठासीन अधिकारी ने गोविंद सिंह को भी आरोपित बनाते हुए उन्हें कोर्ट में पेश होने के लिए आदेशित किया था। इसके बाद से ही गोविंद सिंह फरार हैं।

इसी मामले को पीड़ित परिवार ने सुप्रीम कोर्ट में भी अपनी याचिका दायर कर शिकायत दर्ज कराई थी कि दमोह पुलिस आरोपित गोविंद सिंह को गिरफ्तार नहीं कर रही है। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश जारी किया था कि तत्काल आरोपित को गिरफ्तार किया जाए। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस विभाग में खलबली शुरू हुई और अब गोविंद सिंह की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।