Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

भाई ने फटकारा तो ट्रेन में बैठ निकल पड़ीं सगी नाबालिग बहनें, जागरूक व्यक्ति की सजगता से सकुशल बचीं

भोपाल। मोबाइल फोन पर बात करने के मुद्दे पर बड़े भाई की फटकार से आहत होकर उत्तर प्रदेश से दो सगी बहनें ट्रेन में बैठकर चल दीं। उसी ट्रेन में सफर कर रहे एक जागरुक व्यक्ति ने शंका होने पर किशोरियों के बारे में आरपीएफ को सूचना दी। आरपीएफ ने उन्हें भोपाल में रेलवे चाइल्ड लाइन के सिपुर्द कर दिया। काउंसलिंग करने के बाद सोमवार को किशोरियों को परिजनों के हवाले कर दिया गया।

रेलवे चाइल्ड लाइन से मिली जानकारी के मुताबिक काउंसलिंग में 16-17 साल की किशोरियों ने बताया कि मोबाइल पर बात करने के कारण उनके बड़े भाई ने उन्हें बुरी तरह डांटा था। इससे आहत होकर उन्होंने घर छोड़ने का इरादा कर लिया और बगैर किसी को कुछ बताए ट्रेन में बैठकर निकल पड़ीं। किशोरियों के बताए पते और नंबर के आधार पर उनके परिवार से संपर्क किया गया। पूरा परिवार बेटियों को ढूंढने में लगा था। फोन पर संपर्क करने पर किशोरियों के भाई ने चाइल्ड लाइन को बताया था कि दोनों बहनें मोबाइल पर दिन-रात बात करती थीं। ऐसे में उनके कहीं किसी गलत संगत में पड़ने की आशंका थी। इस वजह से उसने बहनों को फटकार लगाई थी। बड़ा भाई ही उन्हें लेने भोपाल आया था। रेलवे चाइल्ड लाइन ने काउंसलिंग के दौरान किशोरियों को समझाया कि इस तरह का फैसला कर वे किस तरह मुसीबत में भी फंस सकती थीं। समझाइश के बाद किशारियों ने अपनी भूल स्वीकार की और भविष्य में इस तरह की गलती दोबारा नहीं करने का भरोसा भी दिलाया।