Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

नरोत्तम मिश्रा ने राहुल गांधी को लेकर दिया विवादित बयान

भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है. कोलकाता पहुंचे शिवराज ने कालीघाट मंदिर से चुनाव प्रचार का आगाज किया. उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोला. उन्होंने कहा- ममता दीदी ने किसान सम्मान निधि का लाभ किसानों को नहीं दिया. आयुष्मान योजना लागू नहीं की और गरीबों को धोखा दिया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने चुनाव में नया नारा दिया – ‘2 मई को दीदी तो गई…’

बंगाल जाने से पहले शिवराज भोपाल में भी ममता बनर्जी पर जमकर बरसे थे. उन्होंने वहां BJP की सरकार बनने का दावा किया. उन्होंने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगाल में अनेकों बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या की गई. इनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. इस बार ममता बनर्जी की सरकार को उखाड़ फेंकगे. जनता बीजेपी के साथ है.

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं पश्चिम बंगाल जा रहा हूं. परिवर्तन रैली के दौरान मेरी तीन सभाएं हैं. बहुत संघर्ष का चुनाव है. चुनाव का बिगुल बज गया है. बीजेपी की आंधी चल रही. ममता दीदी बौखलाई हैं, घबराई हुई हैं इसलिए परिवर्तन रैलियों पर हमले किए जा रहे हैं. ममता दीदी के कुशासन के खिलाफ, गुंडागर्दी के खिलाफ, भ्रष्टाचार के खिलाफ और लूट के खिलाफ पश्चिम बंगाल उठकर खड़ा होगा.

चुनाव आयोग द्वारा तारीखों की घोषणा कर दी गई है. गौरतलब है कि 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए वोटिंग 27 मार्च (30 सीट), 1 अप्रैल (30 सीट), 6 अप्रैल (31 सीट), 10 अप्रैल (44 सीट), 17 अप्रैल (45 सीट), 22 अप्रैल (43 सीट), 26 अप्रैल (36 सीट), 29 अप्रैल (35 सीट) को होगी. पश्चिम बंगाल में भी काउंटिंग 2 मई को की जाएगी.

चुनाव आयोग की घोषणा के तुरंत बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सवाल उठाए हैं. उन्होंने पूछा है कि 8 चरणों में चुनाव किसको फायदा पहुंचाने के लिए रखा गया है. याद दिला दें साल 2011 में तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल की राजनीति में इतिहास रच दिया था. ममता बनर्जी के नेतृत्व में पार्टी ने 34 साल बाद लेफ्ट की सरकार को उखाड़ फेंका. इसके बाद से लेकर अब तक ममता लगातार दो बार बंगाल की मुख्यमंत्री बन चुकी हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या दीदी इस बार जीत की हैट्रिक लगाएंगी या फिर बंगाल में भगवा लहराएगा.