अवैध रेत भरी ट्रैक्टर-ट्रॉलिया रोकने व पूर्व मंत्री के इनामी बेटे को पकड़ने धौलपुर एसपी ने मांगा सहयोग

मुरैना। मध्य प्रदेश सरकार की ओर से चंबल नदी से रेत परिवहन पर लगी रोक पर धौलपुर एसपी ने सवाल खड़े कर दिए हैं। एसपी के मुताबिक मुरैना जिले की ओर से धड़ल्ले से चंबल नदी से रेत उत्खनन किया जा रहा है। जिस पर चिंता जताते हुए धौलपुर एसपी ने चंबल रेंज आईजी और मुरैना एसपी को पत्र लिखकर अवैध रूप से रेत परिवहन कर रहे ट्रैक्टर ट्रॉलीयो को रोकने की बात कही है। तो वही शिवराज सरकार के पूर्व मंत्री के फरार इनामी बेटे की गिरफ्तारी पर भी सहयोग की मांग की है। जो कि धौलपुर जिले से लंबे समय से वांटेड है।

प्रदेश सरकार की रोक के बाद भी नहीं रुका अवैध परिवहन…

दरअसल धौलपुर जिले के एसपी के पत्र ने प्रदेश सरकार की अवैध खनन रोकने की मंशा पर तो सवाल खड़े किए ही है। साथ ही उन्होंने अवैध रेत परिवहन को रोकने के लिए जिम्मेदार मुरैना जिला पुलिस की कार्यशैली को भी कटघरे में खड़ा कर सनसनी फैला दी है। क्योंकि जिस तरह से एसपी ने मध्यप्रदेश के मुरैना जिले की तरफ से तेज रफ्तार ट्रैक्टर ट्रॉलीयो की आवाजाही की बात कही है। उसने कहीं ना कहीं मुरैना से धौलपुर सीमा पर बने चेक पोस्ट को भी संदेह के घेरे में खड़ा कर दिया है। ऐसे में अगर धौलपुर पुलिस की तरफ से मुरैना की तरफ से आ रहे तेज रफ्तार ट्रैक्टर ट्रॉलीयो पर रोकने की कार्रवाई की जाती है। तो एक बड़ा हादसा हो सकता है। इसलिए पत्र के माध्यम से इन तेज रफ्तार अवैध रेत भरे ट्रैक्टर ट्रॉलीओं के परिवहन को मुरैना जिले की सीमा में ही रोकने के लिए कहा गया है। साथ ही चंबल आईजी और मुरैना एसपी से प्रदेश की शिवराज सरकार के पूर्व मंत्री ऐदल सिंह कंसाना के वांटेड इनामी बेटे बंकू की गिरफ्तारी के लिए सहयोग मांगा है।

पूर्व मंत्री के बेटे सहित 6 आरोपी है वांटेड…

पूर्व मंत्री के बेटे बंकू और उसके साथियों पर अक्टूबर 2019 पर धौलपुर जिले में दो पुलिस वालों के अपहरण और मारपीट का संगीन मामला दर्ज है। साथ ही वह अवैध रेत परिवहन के मामलों में भी संलिप्त बताया जाता है। राजस्थान से वांटेड बंकू के ना पकडे जाने के पीछे बड़ी वजह राजनीति रसूख और पुलिस के ढीला रवैया साफ नजर आता है। यही वजह है,कि पिछले 2 साल से ज्यादा का समय बीत जाने व राजस्थान पुलिस के तमाम प्रयासों के बाद भी अभी तक पूर्व मंत्री के बेटे को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। हालांकि धौलपुर एसपी के इस पत्र के आने के बाद अब आगे क्या कार्रवाई होती है यह तो समय बताएगा।

Whats App