भाजपा की परिवर्तन यात्रा के रथ में तोड़फोड़

देश के पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान (Assembly Elections 2021 Dates) हो चुका है. चुनावों की तारीखों के ऐलान के बाद बंगाल में हिंसा होने की खबर सामने आई है. जानकारी मिली है की बंगाल की राजधानी कोलकाता के कडापार इलाके में शानिवार की रात 11 बजे करीब अज्ञात लोगों ने बीजेपी के चुनावी रथ में जमकर तोड़फोड़ की है. बीजेपी (BJP) नेताओं का कहना है की तृणमूल कार्यकर्ताओं ने बीजेपी की गाड़ियों में और चुनावी रथ में तोड़फोड़ की है.

बीजेपी (BJP) की परिवर्तन यात्रा के रथ में तोड़फोड़ का एक वीडियो बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने ट्वीट किया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि आज ही चुनाव आयोग (Election Commission) ने बंगाल चुनाव तिथि की घोषणा की और तृणमूल कांग्रेस के गुंडो ने बिना डर के रात 11 बजे बीजेपी के कडापारा गोडाउन्न में घुसकर एलइडी गाड़ियां फोड़ी. एलइडी भी खोलकर ले गए. शायद गुंडो ने चुनाव आयोग को चुनोती दी है.

बता दें कि शनिवार को चुनाव आयोग (Election Commission) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 4 राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश के विधानसभा चुनावों का एलान कर दिया है. चुनाव आयोग (Election Commission) के अनुसार असम में 3 चरण में चुनाव होंगे. पहले चरण 27 मार्च को पहला चरण, 1 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान और 6 अप्रैल को तीसरे चरण का मतदान होगा. केरल 6 अप्रैल में एक चरण में मतदान होगा. तमिलनाडु में भी 6 अप्रैल को सभी 234 सीटों पर मतदान होगा. पुडुचेरी में भी एक ही चरण में मतदान होगा. 6 अप्रैल को मतदान की प्रक्रिया पूरी की जाएगी.

पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में मतदान होगा. बंगाल में पहले चरण का मतदान 27 मार्च को होगा. बंगाल में 1 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान, 6 अप्रैल को बंगाल में तीसरे चरण का मतदान. बंगाल में चौथे चरण का मतदान 10 अप्रैल को होगा. पश्चिम बंगाल में पांचवें चरण का मतदान 17 अप्रैल को होगा. बंगाल में छठवें चरण का मतदान 22 अप्रैल को होगा, बंगाल में सातवें चरण का मतदान  26 अप्रैल को होगा. बंगाल में आखिरी चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा. 4 राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश के विधानसभा चुनावों के नतीजे 2 मई को आएंगे.

कोरोना का रखा जाएगा ध्यान

चुनाव आयोग (Election Commission) के अनुसार कोरोना को ध्यान में रखते हुए चुनाव संपन्न कराए जाएंगे, कोरोना की गाइडलाइनों का पालन किया जाएगा. कोरोना महामारी को देखते हुए 4 राज्यों में मतदान केन्द्रों को बढ़ाया गया है. पांच राज्यों की 824 विधानसभा सीटों पर करीब 86 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. पांच राज्यों में करबी 1 लाख से अधिक मतदान केन्द्र बनाए जाएंगे. चुनाव के दौरान उम्मीदवारों को नियमों का पालन करना होगा. उम्मीदवार घर-घर चुनाव प्रचार के लिए 5 लोगों के साथ जा सकते है. नामांकन की प्रक्रिया ऑनलाइन की जाएगी. चुनाव के दौरान चुनाव अधिकारियों का टीकाकरण किया जाएगा, मतदान के समय को एक घंटा बढ़ाया गया है.

प. बंगाल में आठ चरणों में चुनाव

पहला चरण- 27 मार्च
दूसरा चरण- 1 अप्रैल
तीसरा चरण- 6 अप्रैल
चैथा चरण- 10 अप्रैल
पांचवा चरण- 17 अप्रैल
छठा चरण- 22 अप्रैल
सातवां चरण- 26 अप्रैल
आठवां चरण- 29 अप्रैल
मतगणना- 2 मई

असम में तीन चरणों में चुनाव

पहला चरण- 27 मार्च
दूसरा चरण- एक अप्रैल
तीसरा चरण- 6 अप्रैल

केरल, तमिलनाडू, पुडुचेरी

6 अप्रैल को मतदान

मतगणना/नतीजा – 02 मई

पांच राज्यों में अभी क्या है गणित

पश्चिम बंगाल- पश्चिम बंगाल में विधानसभा की कुल 294 सीटें हैं. राज्य में अभी ज्डब् की सरकार है. वहीं विधानसभा चुनावों के चलते सभी राजनीतिक पार्टियों की सभाएं जोरो-शोरो से चल रही हैं.

असम- पूर्वोत्तर भारत के राज्य असम में भी विधानसभा चुनाव होना है, यहां विधानसभा की कुल 126 सीटें हैं और यहां अभी ठश्रच् की सरकार है.

तमिलनाडु- दक्षिण भारत के राज्य तमिलनाडु में 234 विधानसभा सीटें हैं. तमिलनाडु में तमिलनाडु की सरकार है, जिसका नेतृत्व मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी कर रहे हैं.

केरल- केरल में 140 विधानसभा की सीटें हैं और यहां स्क्थ् की सरकार है. बता दें केंद्र में विराजित ठश्रच् की भी इस राज्य में एक सीट है.

पुडुचेरी- केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में कुल 30 विधानसभा सीटें हैं. चुनाव से पहले पुडुचेरी में सियासी संकट भी देखने को मिला है. जिसके चलते मुख्यमंत्री नारायणसामी की सरकार गिर गई है.

Whats App