Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

कृषि मंत्री तोमर की दो टूक- आंदोलन करने से कानून वापस नहीं होते

ग्वालियर: केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने एक बार फिर अपना पुराना बयान दोहराया है। उन्होंने कहा है कि सिर्फ आंदोलन करने से कानून वापस नहीं हुआ करते। यदि वास्तव में किसान यूनियन को कृषकों की उनकी चिंता है तो सरकार को वे बताए कि इन कानूनों में क्या कमियां है। सरकार संशोधन के लिए तैयार है।

ग्वालियर में एक कार्यक्रम में शिरकत करने आए तोमर ने कहा कि सरकार किसान यूनियन से कई दौर की बातचीत कर चुकी है। लेकिन किसान सीधे तौर पर नए कृषि प्रावधानों को वापस लेने और एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों से कानून में कमियों को लेकर बातचीत करने के लिए तैयार है। उनका यह भी कहना है कि किसान यूनियनों को इन प्रावधानों में यह बताना चाहिए कि किसानों का इससे नुकसान कहां पर है तब वे उसे ठीक करने की कोशिश करेंगे। लेकिन सिर्फ आंदोलन करने से कानून वापस नहीं लिए जाएंगे।

कृषि मंत्री ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी किसानों को आश्वस्त कर चुके हैं कि एमएसपी बरकरार रहेगी। विधानसभा उपाध्यक्ष के चयन को लेकर पार्टी में विवाद की सचिव बनने पर उन्होंने कहा कि गिरीश गौतम पुराने नेता है। केदार शुक्ला भी पुराने नेता है इसलिए मनमुटाव जैसी कोई भी बात नहीं है। पार्टी ने सोच समझ के उनका चयन किया है और पार्टी एकजुट है।