Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

कृषि मंत्री तोमर की दो टूक- आंदोलन करने से कानून वापस नहीं होते

ग्वालियर: केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने एक बार फिर अपना पुराना बयान दोहराया है। उन्होंने कहा है कि सिर्फ आंदोलन करने से कानून वापस नहीं हुआ करते। यदि वास्तव में किसान यूनियन को कृषकों की उनकी चिंता है तो सरकार को वे बताए कि इन कानूनों में क्या कमियां है। सरकार संशोधन के लिए तैयार है।

ग्वालियर में एक कार्यक्रम में शिरकत करने आए तोमर ने कहा कि सरकार किसान यूनियन से कई दौर की बातचीत कर चुकी है। लेकिन किसान सीधे तौर पर नए कृषि प्रावधानों को वापस लेने और एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों से कानून में कमियों को लेकर बातचीत करने के लिए तैयार है। उनका यह भी कहना है कि किसान यूनियनों को इन प्रावधानों में यह बताना चाहिए कि किसानों का इससे नुकसान कहां पर है तब वे उसे ठीक करने की कोशिश करेंगे। लेकिन सिर्फ आंदोलन करने से कानून वापस नहीं लिए जाएंगे।

कृषि मंत्री ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी किसानों को आश्वस्त कर चुके हैं कि एमएसपी बरकरार रहेगी। विधानसभा उपाध्यक्ष के चयन को लेकर पार्टी में विवाद की सचिव बनने पर उन्होंने कहा कि गिरीश गौतम पुराने नेता है। केदार शुक्ला भी पुराने नेता है इसलिए मनमुटाव जैसी कोई भी बात नहीं है। पार्टी ने सोच समझ के उनका चयन किया है और पार्टी एकजुट है।