Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

भू माफियाओं पर 10-10 हजार का इनाम, लुकआउट नोटिस जारी करने की तैयारी

इंदौर: इंदौर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा माफिया अभियान में प्रदेश की सबसे बड़ी कार्यवाही इंदौर पुलिस और जिला प्रशासन द्वारा की गई। जहां इंदौर के खजराना और एमआईजी थाना क्षेत्र में रसूखदार भू माफियाओं पर 6 मामले हुए दर्ज किये गए थे। इनसे से फरार भूमाफियाओं पर 10-10 हजार का इनाम घोषित किया गया है। इतना ही नहीं एसपी आशुतोष बागरी द्वारा एक एसआईटी टीम का गठन किया गया है जिसमें खजराना व एमआईजी के थाना प्रभारी व सायबर सेल से एक अधिकारी को टीम में लिया गया है और लुक आउट नोटिस जारी करने की तैयारी की जा रही है।

दरसअल, पुलिस को कई दिनों से भूमाफियों के खिलाफ शिकायत मिल रही थी की सोसाइटी के नाम पर फर्जी रजिस्ट्रेशन कराया गया है और फर्जी तरीके से भूमाफियाओं द्वारा जमीन बेच दी गई जिसकी शिकायत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी की गई थी जिसको लेकर प्रशासन और पुलिस ने भूमाफियाओं पर शिकंजा कसना शुरू किया। वही चार एफआईआर खजराना थाने में और दो एमआईजी थाने में की गई है। वही 14 फरार भूमाफियाओं पर एसपी आशुतोष बागरी द्वारा सूचना देने वाले को 10-10 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा कर तलाश शुरू कर दी हैं और साथ में लुकआउट नोटिस भी जारी किया गया है। वही फरार भूमाफियाओं की संपत्ति की जांच की जा रही है। साथ ही दीपक नाम के भूमाफिया पर रासुका की कार्यवाही भी की गई है। वही एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि एक एसआईटी टीम का गठन किया गया है जिसमें खजराना थाना से थाना प्रभार व एमआईजी से थाना प्रभारी व सायबर सेल से भी टीम में शामिल किया गया है जो कि भूमाफियाओं की बैंक डिटेल निकालने का काम भी करेगी। वही कुछ भूमाफ़िया ने एफआईआर में अपने घर का नाम पता गलत लिखवा दिया है जिसकी जांच की जा रही है।