Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

भू माफियाओं पर 10-10 हजार का इनाम, लुकआउट नोटिस जारी करने की तैयारी

इंदौर: इंदौर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा माफिया अभियान में प्रदेश की सबसे बड़ी कार्यवाही इंदौर पुलिस और जिला प्रशासन द्वारा की गई। जहां इंदौर के खजराना और एमआईजी थाना क्षेत्र में रसूखदार भू माफियाओं पर 6 मामले हुए दर्ज किये गए थे। इनसे से फरार भूमाफियाओं पर 10-10 हजार का इनाम घोषित किया गया है। इतना ही नहीं एसपी आशुतोष बागरी द्वारा एक एसआईटी टीम का गठन किया गया है जिसमें खजराना व एमआईजी के थाना प्रभारी व सायबर सेल से एक अधिकारी को टीम में लिया गया है और लुक आउट नोटिस जारी करने की तैयारी की जा रही है।

दरसअल, पुलिस को कई दिनों से भूमाफियों के खिलाफ शिकायत मिल रही थी की सोसाइटी के नाम पर फर्जी रजिस्ट्रेशन कराया गया है और फर्जी तरीके से भूमाफियाओं द्वारा जमीन बेच दी गई जिसकी शिकायत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी की गई थी जिसको लेकर प्रशासन और पुलिस ने भूमाफियाओं पर शिकंजा कसना शुरू किया। वही चार एफआईआर खजराना थाने में और दो एमआईजी थाने में की गई है। वही 14 फरार भूमाफियाओं पर एसपी आशुतोष बागरी द्वारा सूचना देने वाले को 10-10 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा कर तलाश शुरू कर दी हैं और साथ में लुकआउट नोटिस भी जारी किया गया है। वही फरार भूमाफियाओं की संपत्ति की जांच की जा रही है। साथ ही दीपक नाम के भूमाफिया पर रासुका की कार्यवाही भी की गई है। वही एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि एक एसआईटी टीम का गठन किया गया है जिसमें खजराना थाना से थाना प्रभार व एमआईजी से थाना प्रभारी व सायबर सेल से भी टीम में शामिल किया गया है जो कि भूमाफियाओं की बैंक डिटेल निकालने का काम भी करेगी। वही कुछ भूमाफ़िया ने एफआईआर में अपने घर का नाम पता गलत लिखवा दिया है जिसकी जांच की जा रही है।