पुलवामा के शहीदों को हिंदू रक्षा दल ने दी श्रद्धांजलि, रखा 01 मिनट का मौन, वैलेंटाइन का किया विरोध

कारगिल युद्ध में लड़ाई लड़ चुके सूबेदार रतन यादव का स्वागत किया गया

बैलेंटाइन को देश की विरासत और संस्कृति के लिए खतरा बताते हुए वैलेंटाइन के प्रति विरोध व्यक्त किया

पुलवामा आतंकी हमले में देश ने अपने 40 सीआरपीएफ जवानों को खो दिया था

रामगढ़ : भारत के इतिहास में 14 फरवरी का दिन जम्मू कश्मीर की एक दुखद घटना के रूप में दर्ज है। वो काला दिन दो साल पहले 2019 में आज ही के दिन हुए पुलवामा आतंकी हमले में देश ने अपने 40 सीआरपीएफ जवानों को खो दिया था। ऐसे में भारतीय सेना के इन शहीदों के बलिदान को याद करते हुए पूरे देश भर में शहीदों को श्रद्धांजलि दी जा रही है। रामगढ़ के ह्रदय स्थली सुभाष चौक पर भी हिंदू रक्षा दल के सदस्यों ने 01 मिनट का मौन रखकर व शहीद वीरों के तस्वीर के समक्ष दीप जलाकर और पुष्प अर्पित कर मां भारती के वीर सपूतों को याद किया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में कारगिल युद्ध में लड़ाई लड़ चुके रामगढ़ की पवित्र धरती पर जन्मे भुरकुंडा निवासी सूबेदार रतन यादव का हिंदू रक्षा दल के सदस्यों के द्वारा जोरदार स्वागत किया गया तथा भगवा अंग वस्त्र देकर उन्हें सम्मानित किया गया। इस मौके पर सूबेदार रतन यादव ने कारगिल युद्ध में प्राप्त अनुभव को हिंदू रक्षा दल के सदस्यों के बीच साझा किया ।

एक और जहां पुलवामा के शहीदों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है। वही आज के दिन मनाए जाने वाले बैलेंटाइन डे को देश की विरासत और संस्कृति के लिए खतरा बताते हुए वैलेंटाइन के प्रति विरोध व्यक्त किया ।

Whats App