Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

माइनिंग डिपार्टमेंट द्वारा स्टाम्प ड्यूटी छुपाना पड़ा महंगा, संपत्ति कुर्क के लिए वारंट जारी

सिंगरौली: स्टेट माइनिंग कॉरपोरेशन द्वारा 4 साल से स्टाम्प ड्यूटी चोरी के 11 करोड़ 52 लाख दबाना भारी पड़ गया। आरोप है कि तत्कालीन जिला पंजीयक द्वारा लगातार स्टेट माइनिंग कार्पोरेशन को नोटिस जारी करने के बाद महाप्रबंधक जवाब देने से बच रहे थे। जिसके चलते जिला पंजीयन एवं अतिरिक्त तहसीलदार अभिषेक सिंह ने स्टेट माइनिंग कार्पोरेशन के महाप्रबंधक सतेंद्र सिंह के खिलाफ RRC का प्रकरण दर्ज किया।

सिंगरौली जिले में कोल माइंस के लिए स्टेट माइनिंग कार्पोरेशन ने 8 साल पहले यहां आवेदन किया था। स्टेट माइनिंग कार्पोरेशन के आवेदन पर स्वीकृत की गई थी। लेकिन कोल माइंस के अनुबंध के समय स्टेट माइनिंग कार्पोरेशन ने कम स्टांप ड्यूटी लगाई थी। आपको बता दें कि माइनिंग कार्पोरेशन ने लीज की 17 साल की अवधि के लिए आवेदन किया था। जबकि खनिज संसाधन विभाग द्वारा माइनिंग कार्पोरेशन के उत्खनन के लिए 30 साल की अवधि स्वीकृत की गई थी। आरोप है कि माइनिंग कार्पोरेशन के महाप्रबंधक ने लीज की अवधि कम दिखा कर स्टांप ड्यूटी बचाने की कोशिश की थी स्टेट माइनिंग कॉरपोरेशन द्वारा लगातार कई वर्षों से स्टांप ड्यूटी का भुगतान करने से बचने की जानकारी अब सामने आने के बाद जिला पंजीयक ने कुर्की वारंट जारी किया है। डीआर ने नोटिस में यह चेतावनी दी है कि यदि 15 दिन के अंदर बकाया स्टांप ड्यूटी का भुगतान नहीं किया गया तो स्टेट माइनिंग कार्पोरेशन की चल और अचल संपत्ति को कुर्क किया जाएगा।