Logo
ब्रेकिंग
DISNEY LAND MELA का रामगढ़ फुटबॉल मैदान में हुआ शुभारंभ विस्थापितों की 60% की भागीदारी सुनिश्चित नहीं हुई, तो होगा CCl का चक्का जाम Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा*

अधिकारियों की बड़ी लापरवाही आई सामने, एक भी फ्रंट लाइन वर्कर्र को नहीं लग पाई कोरोना वैक्सीन

ग्वालियर: कोरोना वैक्सीन को लेकर भले ही केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार गंभीर नजर आ रही है, लेकिन अधिकारियों पर इसका कोई असर नहीं दिख रहा।

इसका उदाहरण ग्वालियर जिले में सोमवार को देखने को मिला। वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में अधिकारियों की लापरवाही के कारण जयारोग्य अस्पताल के 7 बूथों पर 940 वर्करों में से टीका नहीं लग सका है।

यानी सोमवार को जयारोग्य अस्पताल में टीकाकरण शून्य रहा। टीका न लग पाने का कारण ये है कि विभाग के पास पहुंची लिस्ट में सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स का मोबाइल नंबर एक ही लिखा था।

इस कारण न तो उनके पास मैसेज आया और ना ही वेरिफिकेशन के समय नंबर मिल पाया। जाहिर है कि अधिकारी वैक्सीन को लेकर गंभीर नहीं हैं। बता दें कि सोमवार से वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो गया है।

इसमें 19500 फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगना है। फ्रंट लाइन वर्कर्स में नगर निगम कर्मचारी, पुलिस व अन्य फोर्स के जवान शामिल हैं। सोमवार को पहले दिन 5000 फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाने का टारगेट रखा गया था।