Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

अधिकारियों की बड़ी लापरवाही आई सामने, एक भी फ्रंट लाइन वर्कर्र को नहीं लग पाई कोरोना वैक्सीन

ग्वालियर: कोरोना वैक्सीन को लेकर भले ही केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार गंभीर नजर आ रही है, लेकिन अधिकारियों पर इसका कोई असर नहीं दिख रहा।

इसका उदाहरण ग्वालियर जिले में सोमवार को देखने को मिला। वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में अधिकारियों की लापरवाही के कारण जयारोग्य अस्पताल के 7 बूथों पर 940 वर्करों में से टीका नहीं लग सका है।

यानी सोमवार को जयारोग्य अस्पताल में टीकाकरण शून्य रहा। टीका न लग पाने का कारण ये है कि विभाग के पास पहुंची लिस्ट में सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स का मोबाइल नंबर एक ही लिखा था।

इस कारण न तो उनके पास मैसेज आया और ना ही वेरिफिकेशन के समय नंबर मिल पाया। जाहिर है कि अधिकारी वैक्सीन को लेकर गंभीर नहीं हैं। बता दें कि सोमवार से वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो गया है।

इसमें 19500 फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगना है। फ्रंट लाइन वर्कर्स में नगर निगम कर्मचारी, पुलिस व अन्य फोर्स के जवान शामिल हैं। सोमवार को पहले दिन 5000 फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाने का टारगेट रखा गया था।