भोपाल पुलिस ने बरामद किए 30 अवैध हथियार एवं 75 कारतूस, आठ आरोपी गिरफ्तार

भोपाल: भोपाल पुलिस की अपराध शाखा ने रविवार को अवैध हथियारों की तस्करी एवं व्यापार करने वाले गिरोह के आठ लोगों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से पिस्तौल एवं रिवाल्वर सहित 30 अवैध हथियार और 75 कारतूस बरामद करने का दावा किया है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (अपराध शाखा) गोपाल धाकड़ ने यहां संवाददाताओं को बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी शहर के अयोध्या बायपास मार्ग पर पुलिया के पास एक व्यक्ति अवैध हथियार बेचने की फिराक में खड़ा है।

उन्होंने कहा कि सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने घेराबंदी कर आरोपी पप्पू उर्फ बादल सिंह केवट (42) को पकड़ लिया। वह विदिशा जिले के अकबरपुर गांव का रहने वाला है। धाकड़ ने बताया कि तलाशी में पुलिस ने उसके पास से एक अवैध देशी पिस्तौल एवं कारतूस बरामद किया।

उन्होंने कहा कि पूछताछ में पप्पू ने बताया कि वह मंडीदीप के दीपक के बुलाने पर इसे उसे बेचने जा रहा था तथा अकबरपुर गांव के ही मनोज सिंह (35) ने उसे यह हथियार एवं कारतूस दिया है। इसके बाद मनोज की भी अकबरपुर गांव से हथियारों के साथ गिरफ्तार कर लिया और उसके निशानदेही पर इस गिरोह के छह अन्य आरोपियों को प्रदेश के विभिन्न स्थानों से अन्य हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया।

धाकड़ ने बताया कि पुलिस ने पप्पू एवं मनोज के अलावा, गजेन्द्र सिंह (24), ज्ञान सिंह (42), गोलू अहिरवार (19), गगन राजपूत (29), आनंद शर्मा (46) एवं दीपक राजपूत (27) को गिरफ्तार किया है। ये सभी आरोपी प्रदेश के विदिशा, रायसेन एवं भिंड जिलों के हैं।

उन्होंने कहा कि इनके पास के कुल 30 अवैध हथियार और 75 कारतूस बरामद किये गये हैं। हथियारों में पांच पिस्तौल, दो रिवाल्वर एवं 23 देशी कट्टे शामिल हैं।

धाकड़ ने बताया कि ये अवैध हथियार भिंड से सिरोंज, पथरिया, कुरवई, शमशाबाद, भोपाल एवं मंडीदीप भेजे जाते थे।

उन्होंने कहा कि ये आरोपी प्रत्येक देशी कट्टा 2,000 से 3,000 रूपये में खरीदकर 8,000 से 10,000 रूपये में बेचते थे, जबकि पिस्तौल 8,000 से 10,000 रूपये प्रति नग खरीदकर उसे 20,000 से 25,000 रूपय प्रति नग के भाव से बेचते थे।

धाकड़ ने बताया कि इस गिरोह के मुख्य सरगना की तलाश जारी है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में मामला दर्ज कर आरोपियों से विस्तृत पूछताछ जारी है।

Whats App