Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

भाजपा नेता विजयवर्गीय ने कहा- बंगाल में संत न होते तो बांग्लादेश बन गया होता

इंदौर। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि संस्कृति और देश को बचाने के लिए संतों का योगदान कभी भुलाया नहीं जा सकता। बंगाल में संत, महात्मा, साधु, संन्यासी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता नहीं होते तो बंगाल कब का बांग्लादेश बन गया होता।

ओंकारेश्वर में द्वादश ज्योर्तिलिंग यात्रा पूर्ण होने पर विजयवर्गीय संतों से हुए मुखातिब

विजयवर्गीय बुधवार को ओंकारेश्वर में गुरुुदेव नर्मदानंद बापजी की द्वादश ज्योर्तिलिंग यात्रा पूर्ण होने पर आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। इसमें कई राज्यों से आये संत-महात्माओं के अलावा नेता और जनप्रतिनिधि भी शामिल हुए।

मुख्यमंत्री ने वीडियो संदेश से कार्यक्रम को किया संबोधित

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो संदेश के माध्यम से कार्यक्रम को संबोधित किया। प्रदेश सरकार के मंत्री कमल पटेल और ऊषा ठाकुर भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

दिल्ली में हुई हिंसा भाजपा की साजिश: दिग्विजय

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई हिंसा भाजपा की सुनियोजित साजिश है। आंदोलन कर रहे किसान उग्र नहीं हुए थे, बल्कि पुलिस उग्र हुई थी। महाकाल के दर्शन के बाद वे पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गाजीपुर बार्डर पर इसलिए दिक्कत हुई क्योंकि दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर रैली के लिए जो रूट दिया था, वह बदल दिया। वहां बैरिकेड्स लगा दिए गए। किसानों ने खोलने की बात कही तो पुलिस ने लाठिया भांजी, आंसू गैस के गोले दागे। दो माह से जो लोग शांतिपूर्ण सत्याग्रह कर रहे हैं, वे हिंसक हो नहीं सकते। सिंह ने कहा कि हिंसा के पीछे जिन संदिग्ध लोगों को चिह्नित किया गया है, उनके नाम सरकार को सार्वजनिक करना चाहिए।