Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

3 इडियट्स के रेंचो बने सुनील, वीडियो कॉलिंग में डॉक्टर से बात कर ट्रेन में करवा दी महिला की डिलिवरी

सागर: आपने अब तक सिर्फ 3 ईडियट्स फिल्म में ही वर्चुअल डिलीवरी करते हुए आमिर खान यानी रैंचो को देखा है। लेकिन आज हम आपको रियल लाइफ के रैंचो यानी सुनील प्रजापति से मिलवाने जा रहे हैं। जिन्होंने ट्रेन में एक गर्भवती महिला की सफल वर्चुअली डिलेवरी कराई। सुनील के इस काम की केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर तारीफ की है।

दरअसल सुनील प्रजापति दिल्ली के नार्दन रेलवे हॉस्पिटल में लैब टेक्नीशियन के पद पर कार्यरत हैं। शनिवार को सुनील प्रजापति दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्टेशन से सागर आने के लिए ट्रेन में सवार हुए। इस बीच मथुरा रेलवे स्टेशन में जैसे ही ट्रेन पहुंची तो सामने बैठी गर्भवती महिला को दर्द शुरू हुआ। महिला को दर्द ज्यादा बढ़ने पर सुनील ने उसकी मदद करने डॉक्टर सुपर्णा सेन को कॉल किया। डॉक्टर सुपर्णा सेन के गाइडेंस में ही महिला की वीडियो कॉल के जरिये सुरक्षित डिलीवरी कराई गई।

PunjabKesari,  Sagar Railway Station, Hazrat Nizamuddin, Three Idiots, Aamir Khan, Rancho, Birth in Train, Virtual Delivery

वीडियो कॉल में जिस तरह से डॉक्टर गाइड कर रहे थे, ठीक उसी तरह से सुनील ने उसे ऑपरेट किया। हालांकि डिलीवरी के समय कुछ सामान ना मिलने पर थोड़ी दिक्कतें जरूर हुई। लेकिन डिलवरी सुरक्षित रही। सुरक्षित डिलीवरी कराने के बाद सुनील प्रजापति ने महिला को सकुशल मथुरा के डिस्ट्रिक्ट अस्पताल में भर्ती कराया। अब महिला और बच्चे दोनों स्वस्थ हैं। वहीं सुनील का कहना है कि वीडियो कॉल से डिलीवरी कराते समय उन्हें जरा भी डर नहीं लगा। सुनील ने कहा कि वह पल भावुक करने वाला था। लेकिन जो भी हो, कोरोना के खौफ के बीच भी कठिन समय में डर हावी नहीं हो पाया, वहीं अब महिला व बच्चा दोनों सुरक्षित हैं।