Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

13 साल की बच्ची के साथ 5 दिन में 2 बार रेप और 2 बार हुआ गैंगरेप, रुंह कपा देगा हब्शियों का ये बहशीपन

उमरिया: वैसे तो महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा को लेकर सरकारें बड़े बड़े दावे करती है लेकिन जमीनी हकीकत इसके बिल्कुल विपरीत है। बच्चियों से आए दिन दुष्कर्म और गैंगरेप जैसी घटनाएं देखने को मिलती है। मध्य प्रदेश के उमरिया से दिल को दहला देने वाली वाली ऐसी ही एक घटना सामने आई है जहां एक 13 साल की बच्ची के साथ रेप और गैंगरेप की व्यथा जानकर आपकी रुंह कांप जाएगा। जहां कुछ लोगों ने एक 13 वर्षीय बच्ची का अपहरण करके उसके साथ गैंग रेप किया। फिर डाबा संचालक के साथ मिलकर फिर से अपनी हवस का शिकार बनाया। इतना ही नहीं तीसरी और चौथी बार दो अलग-अलग ड्राइवरों ने भी मदद के नाम पर बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। उमरिया पुलिस के अनुसार 5 दिनों के अंदर बच्ची के साथ 2 बार रेप और 2  बार गैंगरेप किया गया है। पुलिस ने अब तक इस मामले में 7 आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक,13 वर्षीय बच्ची जबलपुर में पिता के साथ रहकर पढ़ाई कर रही है। वह नौवीं की छात्रा है। पिता सरकारी नौकरी में हैं। लॉकडाउन के दौरान स्कूल बंद होने से छात्रा मां के पास उमरिया आ गई। 4 जनवरी को बच्ची का उसके एक परिचित ने अपहरण अपने दो साथियों के साथ गैंगरेप किया। फिर उसे किसी को कुछ भी न बताने की धमकी देकर छोड़ दिया। इसके बाद 11 जनवरी की दोपहर पहली वारदात में शामिल एक युवक अपने कुछ अन्य दोस्तों के साथ एनएच 43 किनारे पर मौजूद ढाबे में ले गए। यहां आकाश व राहुल के अलावा ढाबा संचालक पारस सोनी व साथियों मानू केवट, ओंकार राय, ईतेंद्र सिंह व रजनीश चौधरी ने उसके साथ गैंगरेप किया

दूसरे दिन सुबह बच्ची ने दरिंदों से पापा के पास छोड़ देने की मिन्नतें की तो आरोपियों ने उसे एक ट्रक ड्राइवर रोहित यादव के साथ बैठा दिया। लेकिन ट्रक ड्राइवर ने भी रास्ते में बच्ची के साथ रेप किया और उसे विलायत कला- बड़वारा के समीप टोल नाके पर छोड़ दिया।

बेबस बच्ची ने फिर घर वापसी के लिए एक अन्य ट्रक चालक से मदद मांगी। इंसानियत तो जैसे खत्म हो गई हो और यहां भी बहशी ट्रक ड्राइवर ने उसकी मजबूरी का फायदा उठाते हुए दुष्कर्म किया। बाद में उसे उमरिया के पास छोड़कर भाग गया।