Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

हिंदू महासभा ने गोडसे की ज्ञानशाला का किया उद्घाटन, कहा- आने वाली पीढ़ी को इस क्रांतिकारी के बारे में बताएंगे

ग्वालियर: ग्वालियर हिंदू महासभा ने रविवार को अपने दौलतगंज स्थित कार्यालय में गोडसे ज्ञानशाला का उद्घाटन किया है। इसमें बड़ी संख्या में हिंदू महासभा के महिला और पुरुष शामिल रहे। हिंदू महासभा का कहना है कि कांग्रेस ने 50 सालों तक देश के विभाजन के खिलाफ आवाज उठाने वाले नाथूराम गोडसे के बयानों को कोर्ट के आदेश का हवाला देकर रोके रखा अब कोर्ट ने इस पर से लगा प्रतिबंध हटा दिया है। यह बयान सबके सामने आना चाहिए। इसलिए हिंदू महासभा आने वाली पीढ़ी को देश की आजादी में क्रांतिकारियों के बलिदान और हिंदू महासभा के नेता नाथूराम गोडसे एवं नारायण आप्टे के जीवन परिचय और उनके प्रेरणास्रोत महान क्रांतिकारियों से भी युवा पीढ़ी को अवगत कराएगी।

कार्यक्रम की शुरुआत में सबसे पहले गोडसे के चित्र पर माल्यार्पण की गई फिर पूजा अर्चना के बाद ज्ञानशाला का शुभारंभ किया गया। इस दौरान सारा दौलतगंज नाथूराम गोडसे के जयकारों से गूंज उठा। गोडसे की ज्ञानशाला में बीजेपी के पित्र पुरुष पंडित श्याम प्रसाद मुखर्जी और आर एस एस के संस्थापक डॉ केशव बलीराम हेडगेवार को भी शामिल किया गया है। हिंदू महासभा का कहना है कि राजनीतिक दल अपने फायदे के लिए नाथूराम गोडसे को हत्यारा कहते हैं। जबकि उन्होंने महात्मा गांधी और मोहम्मद अली जिन्ना का विभाजन को लेकर प्रतिकार किया था।

हिंदू महासभा नेता विनोद जोशी कैलाश नारायण शर्मा, लाल जी शर्मा और हरिदास अग्रवाल की मौजूदगी में हिंदू महासभा ने अपने निजी भवन में गोडसे और उनके प्रेरणा स्रोत महापुरुषों के चित्र का अनावरण किया। इस मौके पर नाथूराम गोडसे के सम्मान में उनके समर्थकों ने आरती भी गाई और जिंदाबाद के नारे लगाए। उनका कहना है कि कांग्रेस ने देश का विभाजन कर लाखों हिंदुओं की हत्या करवाई थी और कांग्रेस के कृत्य को आजादी के बाद छुपा कर रखा गया जबकि युवा पीढ़ी को जानना चाहिए कि देश को आजादी किन परिस्थितियों में मिली और अखंड भारत के लिए कितना संघर्ष किया।

खास बात यह है कि हिंदू महासभा ने गोडसे ज्ञानशाला का शुभारंभ करने को लेकर एक दिन पहले ही घोषणा कर दी थी जिसके कारण पुलिस भी वहां अलर्ट थी। इससे पहले 2017 में हिंदू महासभा ने गोडसे की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा कराई थी जिसे लोगों के भारी विरोध के बाद कोतवाली पुलिस ने जब्त कर लिया था। हिंदू महासभा हर साल उनकी जयंती और शहादत दिवस को बनाती है और उन्हें सच्चा देशभक्त बताती है जबकि कांग्रेस सहित भाजपा भी गोडसे  के कृत्य को किसी आतंकवादी घटना से कम नहीं बताते हैं। हिंदू महासभा नेताओं का कहना है कि गोडसे की ज्ञानशाला में उनसे जुड़ा साहित्य और उनके प्रेरणास्रोत रहे सभी लोगों के जीवन से संबंधित पुस्तकें भी उपलब्ध कराई जाएंगी। राजनीतिक दल अपने वोट के खातिर गोडसे को हत्यारा बताते हैं लेकिन वे सच्चे अर्थों में देश भक्त थे।