Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

Rajrappa सेल्फी के चक्कर मे युवक की मौत

ट्रैन के ऊपर चढ़ ले रहे थे सेल्फी, हाई वोल्टेज की चपेट में आने से जला युवक

रजरप्पा : रामगढ़ जिले के रजरप्पा थाना अंतर्गत मायल रेलवे स्टेशन में खड़ी एक मालगाड़ी पर चढ़कर सेल्फी लेने के चक्कर में रविवार की शाम एक 17 वर्षीय किशोर जिंदा जल गया। सेल्फी लेने के दौरान किशोर रेलवे ट्रैक के ऊपर लगे 25 हजार वोल्ट के तार की चपेट में आ गया। इससे वह जिंदा जल गया। किशोर के शरीर का लगभग आधा भाग जलकर रेलवे ट्रैक पर गिर गया।

इस घटना के बाद स्टेशन में अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। स्टेशन में तैनात आरपीएफ के जवान तत्काल वहां पहुंचे। तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। मृतक युवक मायल स्टेशन के समीप स्थित चितरपुर सोनार मुहल्ला के संतोष वर्मा का 17 वर्षीय पुत्र सत्यम वर्मा है। वह रजरप्पा प्रोजेक्ट स्थित सरस्वती विद्या मंदिर में नौवीं कक्षा का छात्र है। बताया गया कि वह अपने दोस्त के साथ घूमने के लिए स्टेशन की ओर आया था। स्टेशन के प्लेटफाॅर्म पर खाली तेल टैंकर का एक मालगाड़ी खड़ा था।

इस दौरान एक-एक कर सभी युवकों ने मालगाड़ी के टैंकरयुक्त बोगी पर चढ़कर सेल्‍फी लेने व मोबाइल से फोटो खिंचवाना तय किया। सबसे पहले सत्यम बोगी पर चढ़ा और ऊपर से सेल्फी लेने लगा। इसी क्रम में वह उच्च विद्युत प्रभावित तार की चपेट में आ गया। इसके बाद देखते ही देखते क्षण भर में उसके शरीर में आग लगने के बाद वह सीधे रेलवे ट्रैक पर गिर गया।

घटना की सूचना पाकर सबसे पहले आरपीएफ के जवान अजय कुमार महतो वहां पहुंचे। उन्‍होंने अधजला शव देखकर सबसे पहले कपड़े से उसका शरीर ढंक दिया। फिर रेलवे के वरीय अधिकारियों को इसकी सूचना दी। इधर घटना की सूचना पाकर मायल रेलवे स्टेशन में सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। मृतक छात्र के माता-पिता व अन्य परिजन भी पहुंचे।

माता-पिता का स्टेशन परिसर में रो-रोकर बुरा हाल है। इधर घटना के बाद लोग रेलवे स्टेशन की सुरक्षा-व्यवस्था पर सवाल उठाने लगे। लोगों का कहना है कि यदि स्टेशन परिसर में आरपीएफ व जीआरपी के जवान मौके पर तैनात रहते तो यह घटना नहीं होती। खबर लिखे जाने तक रेल थाना पुलिस शव को ट्रैक से उठाने की प्रक्रिया में थी।