Logo
ब्रेकिंग
DISNEY LAND MELA का रामगढ़ फुटबॉल मैदान में हुआ शुभारंभ विस्थापितों की 60% की भागीदारी सुनिश्चित नहीं हुई, तो होगा CCl का चक्का जाम Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा*

इमरती की मिठास फीकी कर रहे कांग्रेस विधायक, मजदूर बोले- जनसेवक हो तो सुरेश राजे जैसा

डबरा: मध्य प्रदेश की बहुचर्तिच सीट डबरा से सिंधिया समर्थक इमरती देवी को विधानसभा उपचुनाव में हराकर सुर्खियों में आए डबरा कांग्रेसी विधायक सुरेश राजे एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। गुरुवार को उनका निराला अंदाज देखने को मिला। जब लोग कड़ाके की ठंड में घर से नहीं निकल पा रहे हैं वही विधायक सुरेश शहर के अग्रेसन चौराहे पर मजदूरों के बीच पहुंचे। उन्होंने दिहाड़ी मजदूरों को ठिठुरन भरी ठंड से बचाने के लिए गरमा गरम चाय अपने हाथों से परोसी कर गरीब दिहाड़ी मजदूरों को पिलाई।

इस दौरान मजदूर भी भावुक हो गए और कहने लगे जनसेवक हो तो सुरेश राजे जैसा…यह सुनकर विधायक सुरेश राजे ने फूलों की माला एक गरीब मजदूर को पहना कर उसका स्वागत किया और कहा की विधायक मैं नहीं आप लोग हैं। मेरी जब जहां जैसी जरूरत पड़े, मुझे याद कर लेना। यह जनसेवक आपके साथ खड़ा होगा…।

मजदूरों को ठंड से बचाने के लिए विधायक सुरेश राजे ने उसी समय नगर पालिका सीएमओ को शहर में अलाव जलाने के लिए भी सूचित किया और कहा कि सभी मुख्य चौराहों पर भी अलाव जलाए जाएं जिससे मजदूरों को सर्दी से राहत मिल सके। नगर पालिका सीएमओ ने भी विधायक को अलाव जलाने का आश्वासन दिया। विधायक का यह कार्य शहर के अन्य लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत है।

गर्मी हो या सर्दी रोजी रोटी के लिए शहर के कई मजदूर अग्रेसन चौराहे पर एकत्र हो जाते हैं। जिसको जहां मजदूरी मिलती है लोगों के साथ जाकर निर्माण स्थलों पर मजदूरी करते हैं। ये लोग गरीबी रेखा के नीचे अपना जीवन यापन करते हैं और रोजगार की तलाश में यहां आते हैं। कई बार उन्हें मजदूरी नहीं मिलती और निराश घरों को लौट जाते हैं, जबकि कुछ मजदूर मजदूरी की तलाश में यही बैठे रहते है।

जनवरी में पड़ रही कड़ाके की ठंड के बीच गुरूवार की सुबह जब विधायक सुरेश राजे चौराहे से निकल रहे थे, तभी उन्होनें सड़क किनारे फुटपाथ पर कुछ मजदूरों को ठंड में ठिठुरते हुए देखा। उन्होंने मजदूरों के पास पहुचंकर उनका हालचाल जाना, यह मजदूर काम नहीं मिलने से यहां पर बैठे थे, मजदूरों से बातचीत कर विधायक सुरेश राजे ने अपने सहयोगियों से तत्काल चाय मंगवाई एंव अपने हाथों से मजदूरों को चाय वितरण कर उन्हे चाय पिलवा