Logo
ब्रेकिंग
रांची रामगढ़ फोरलेन पर चेटर में सड़क दुर्घटना, दो घायल रामगढ़ के दो घरों में डकैती, परिवार को बंधक बनाकर लाखो की लूटपाट, CCTV में अपराधी हुए कैद । रजरप्पा मंदिर के पुजारी रंजीत पंडा का हृदय गति रुकने से नि-धन, शोक की लहर हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण

दस्त लगना भी कोरोना के सिम्टम्स, भोपाल में हर दिन सामने आ रहे 90 केस

भोपाल: मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के मरीजों में कुछ नए लक्षण देखने को मिले हैं। राजधानी भोपाल में पिछले कुछ दिनों से लोग अस्पताल में पेट दर्द, डायरिया और बुखार की शिकायत लेकर आए लेकिन जब उनका टैस्ट किये गए तो रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। खास बात यह कि भोपाल में रोजाना 90 से ज्यादा ऐसे केस आ रहे हैं। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। डॉक्टरों की सलाह है कि यदि डायरिया, पेट दर्द और बुखार जैसे लक्षण किसी व्यक्ति में दिखाई दें तो वे तुरंत अपना कोविड टेस्ट करवा लें।

हमीदिया अस्पताल में कोविड यूनिट के इंजार्च डॉ. पराग शर्मा के अनुसार, ऐसे केसों की संख्या पिछले 15 दिनों में लगातार बढ़ रही है। लोग पेट दर्द, डायरिया और बुखार होने की शिकायत लेकर आते हैं, जिनकी जांच कराने पर ज्यादातर रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ रही है। हालांकि डॉक्टरों की मानें तो कोविड में सर्दी-जुकाम और बुखार आम लक्षण हैं और बहुत से मरीज संक्रमित के संपर्क में आने के बाद भी जांच कराने नहीं पहुंचते हैं। यही वजह है कि वायरस के इंफेक्शन से दूसरी बीमारियां शुरु हो रही है। जिनमें दस्त और बुखार आम है। इसलिए सावधान रहने की जरूरत है।

इसके साथ ही डॉक्टर्स ने सलाह दी है कि यदि किसी को पेट दर्द, दस्त और बुखार की शिकायत है तो तुरंत कोरोना टैस्ट कराए। हमीदिया अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक ज्यादातर लोग सर्दी-जुकाम और बुखार होने पर खुद से ही दवाएं लेते हैं। जब बीमारियां बढ़ने लगती है तो अस्पताल आते हैं। हालांकि लोगों को सलाह है कि वे पेट दर्द, दस्त, बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। खुद से अपना इलाज न करें।