रजरप्पा को पर्यटन स्थल के रूप में स्थापित करने का सरकार का सपना कोरोना के चलते अधर में

जल्द ही रजरप्पा में विकास योजनाएं धरातल पर दिखेंगीं : डीसी

yamaha

रजरप्पा : सरकार का सपना है कि देश के प्रसिद्ध शक्तिपीठ रजरप्पा स्थित माँ छिन्नमस्तिका मंदिर विश्व के मानचित्र पर पर्यटन स्थल के रूप में एक पहचान बनाये। इसको लेकर झारखंड सरकार रजरप्पा में कई विकास योजनाओं की आधारशिला रखी है। परन्तु लॉक डाउन के चलते यह विकास योजनाएं ठप्प पड़ गई है।

विश्व के मानचित्र में रजरप्पा मंदिर एक पर्यटन स्थल के रूप में स्थापित हो, इसको लेकर पूर्व व वर्तमान सरकार ने कई विकास योजनाओं को धरातल पर उतारा है। जिसमें कई योजनाएं पूर्ण भी हो चुकी है। परन्तु कुछ अभी भी अधर में लटकी नज़र आ रही है। जिसमें चिल्ड्रेन पार्क,भव्य मुख्य द्वार व मोटर स्टैंड प्रमुख योजनाएं हैं। इस संबंध में रजरप्पा मंदिर न्यास समिति के सचिव शुभाशीष पंडा ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते विकास योजनाएं शिथिल पड़ी है।

वही इस संबंध में रामगढ़ उपायुक्त संदीप सिंह ने कहा कि कुछ योजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं। कुछ का डीपीआर तैयार है। जल्द ही रजरप्पा में विकास योजनाएं धरातल पर दिखेंगीं।

सरकार और श्रद्धालु सभी यही चाहते हैं कि रजरप्पा पर्यटन के क्षेत्र में विश्व में एक अलग पहचान बनाये। जिसमें पर्यटकों को सारी सुविधाएं मोहैया हो। अब सबको जल्द ही इन विकास योजनाओं के पूर्ण होने का इंतजार है।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.