लारी पनशाला में एसडीओ के प्रयास से 11000 वोल्ट का तार ले जाने के लिए पोल लगाने का कार्य हुआ पूरा

चितरपुर प्रखंड के छोटकीलारी स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज के पास बिजली केबल का ज्वाइंटर खराब होने के कारण पिछले 7 दिनों से सुकरीगढ़ा और लारी क्षेत्र में बिजली आपूर्ति पूर्ण रूप से बाधित है।

जिस कारण इन दोनों गांव के सैकड़ों घरों के प्रभावित होने से ग्रामीण काफी परेशान हैं। इसे लेकर लारी पनशाला के पास से 11 हजार वोल्ट का तार ले जाने के लिए पोल लगाने का कार्य बुधवार को शुरू हुआ। इस दौरान विद्युत विभाग के एसडीओ प्रभाकर कुमार ने स्वयं मौजूद रहकर काफी सूझबूझ से काम लेते हुए सारे पोल को लगवाने का काम देर शाम तक पूरा करवाया।

ज्ञातव्य हो कि पनशाला के कुछ ग्रामीण 11 हजार वोल्ट का तार ले जाने का विरोध कर रहे थे। लेकिन एसडीओ प्रभाकर कुमार के प्रयास से सोमवार को पोल लगाने हेतु गड्ढा करने का कार्य किया गया और मंगलवार को ही पोल लगाने का काम किया जाना था। लेकिन ग्रामीणों द्वारा पुनः विरोध किए जाने के कारण कार्य नहीं हो पाया था।

इसके बाद बुधवार को एसडीओ प्रभाकर कुमार ने स्वयं मौजूद रहकर देर शाम तक पोल लगवाने का कार्य पूरा करवाया। एसडीओ प्रभाकर कुमार ने बताया कि ग्रामीणों की सुविधा को देखते हुए यहां उत्तम क्वालिटी के पोल लगवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि लोगों का काम करने से मन को सुकून मिलता है। उन्होंने विरोध करने वाले ग्रामीणों को चेतावनी दी कि जो लोग चोरी से बिजली जलाते हैं, वही लोग सरकारी काम में बाधा भी डालते हैं। वैसे लोग सावधान हो जाएं और बिजली बिल जमा करें।

अन्यथा पकड़े जाने पर उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। इधर, एसडीओ के प्रयास के पनशाला में पोल लगाने का कार्य पूरा होने पर सुकरीगढ़ा और लारी के ग्रामीणों में हर्ष का माहौल है। गुरूवार को तार खींचने का काम किया जाएगा और दोनों गांव में बिजली बहाल हो सकेगी। इस अवसर पर विद्युत विभाग के कनीय अभियंता राजेंद्र उरांव सहित अनेकों ग्रामीण उपस्थित थे।
इमरान अंसारी की रिपोर्ट

Whats App