Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

बोकारो में विस्थापितों ने अपनी मांगों को लेकर किया प्रदर्शन

झारखंड के बोकारो जिला में विस्थापितों का आंदोलन कोई नई बात नही है।इसके पहले भी विस्थापित अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करते रहे हैं।विस्थापित बोकारो स्टील प्लांट में नियोजन की मांग को लेकर रहे हैं आंदोलन। विस्थापित गांव पचोरा में पानी के पाइप लाइन का काम विस्थापितों ने रोका दिया है ।

इस आंदोलन एव प्रदर्शन में जहां छोटे-छोटे बच्चों के साथ महिलाएं भी इस आंदोलन में कूद पड़ी है। इस तपती गर्मी में और तपती धूप में हाथों में छाता लेकर आदिवासी विस्थापित महिलाएं अपने छोटे-छोटे बच्चों के साथ अपनी मांगों को लेकर आंदोलन मैं कूद पड़ी है।

यह मामला बोकारो के हरला थाना क्षेत्र की है।जहाँ आंदोलन के माध्यम से सोसलडिस्टेंस का खयाल रखते हुए प्रदर्शन किया जा रहा है।इस आंदोलन में सैकड़ों की बड़ी संख्या में आदिवासी विस्थापित महिलाएं और पुरुष जमा होकर हाथों में अपनी मांगों की तख्तियां लेकर आंदोलन कर रहे हैं ।

वही विस्थापितों का कहना है की बोकारो स्टील प्लांट ने हमारी जमीन ले लिया है।लेकिन मुआवजा नहीं दिया साथ ही नौकरी की मांग करने पर हमें दुत्कार दिया जाता है ऐसे में जमीन लुटाने के बाद अब विस्थापित जाएं तो जाएं कहां। सरकार हम आदिवासी विस्थापितों की मदद करें और हक दिलाने का काम करें नहीं तो यहीं पर हम आंदोलन करते करते अपनी जान गवा देंगे लेकिन अपनी जमीन नहीं देंगे।आंदोलन के दौरान विस्थापितो द्वारा नारेबाजी भी किया गया।