Ramgarh सर्पों की देवी माता मनसा की आराधना की गई

विषैले जीवों के दंश से बचने के लिए मां मनसा की पूजा की जाती है।

रामगढ़ : जिले भर में सोमवार को सर्पों की देवी माता मनसा की आराधना की गई। उपवास रहकर भक्तों ने विधि विधान से सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए पूजा अर्चना की।

मां मनसा की पूजा को लेकर भक्ति का माहौल बना रहा। जिले के पीटीपीएस रशियन हॉस्टल में बंगाली समाज समिति द्वारा तीन दिवसीय मां मनसा पूजा का भव्य आयोजन किया गया।

वही चितरपुर के मनसा मंदिर में मां मनसा देवी की विशेष महत्त्व लोगों का मानना है कि मां मनसा की पूजा करने व उपवास रखने से मां अपने भक्तों को अकाल मृत्यु से बचाती है । पूरे जिले में विभिन्न स्थलों पर सुबह होते ही पूजा की तैयारियां शुरू हो गईं। भव्य प्रतिमा स्थापित की गई थी। मां मनसा का मंगल पाठ किया गया।

भक्तिगीतों के साथ कलश पूजा की गई। भक्ति गीतों का गायन करते हुए ढोल-ढाक के साथ भक्तों ने तालाब से जल लाकर माता की प्रतिमा स्थापित की। पारंपरिक तरीके से पूजा की गई

पूजा के दौरान मां को फल-फूल, पेड़ा आदि चढ़ाए गए। आधी रात में निसी पूजा की गई। यह पूजा मुख्य तौर पर तीन दिनों तक चलता है। पहले दिन श्रद्धालु नहाय-खाय करते हैं एवं संयम में रहते हैं। दूसरे उपवास में रहकर रात में मां की विधि-विधान से पूजा करते हैं। विषैले जीवों के दंश से बचने के लिए मां मनसा की पूजा की जाती है।

Whats App