वाहन चेकिंग करना पुलिस को पड़ा मंहगा, कोरोना संक्रमित हुए पुलिस के जवान, गोला थाना हुआ सील 

गोला के लोग रजरप्पा थाने में अपनी शिकायत दर्ज करा सकते : पुलिस

रामगढ़: झारखंड के रामगढ जिले के गोला थाना में तैनात आधा दर्जन सैप के जवान कोरोना पोजेटिव मिलने से पुलिसकर्मियो में हड़कंप मच गया है और कोरोना संक्रमण न फैले इसलिये प्रशासन ने एहतियात के तौर पर गोला थाना को सील करते हुए थाने के सभी पुलिसकर्मियो को क्वॉरेंटाइन कर बाहरी व्यक्ति के थाना आने पर प्रतिबंध लगा दिया है ।

थाना सील होने से फरियादियों की बड़ी परेशानियां 

दरअसल बताया जाता है कि गोला थाना पुलिस पिछले कुछ दिनों से वाहन चेकिंग अभियान चला रही थी। इसी तहत इन पुलिसकर्मियो को रविवार को कोरोना टेस्ट कराया गया इस टेस्ट में आधा दर्जन जवान कोरोना पोजेटिव पाए गए। पुलिस के अनुसार वाहन चेकिंग के दौरान अनजाने में कोई संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से इनलोगो में कोरोना का संक्रमण फैला है।

कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर थाना को सील किया गया तो थाने पहुंचने वाले शिकायतकर्ता वह फरियादियों की परेशानियां बढ़ गई  है । थाने में अपने दुधमुँहे बच्चे के साथ अपनी शिकायत लेकर आई पीड़िता कौशल्या देवी ने बताई कि मेरे पति ने मेरे साथ मारपीट कर घर से निकाल दिया है, इसे लेकर हम थाना आये है लेकिन यहां थाना सील है, गेट से पुलिसवाले बता रहे अभी थाना में कोई काम नही हो रहा है अब हम क्या करे समझ में नही आ रहा है।

इसी क्रम में एक दूसरा व्यक्ति करण कुमार ने बताया कि हम अपनी शिकायत लेकर गोला थाना आये लेकिन यहां थाना कोरोना को लेकर सील है कोई काम नही हो रहा है अब वापस  लौट रहे है।

कोरोना को लेकर सील हुए गोला थाना के मामले पर डीएसपी श्री प्रकाश सोय ने बताया कि हमारे 6 जवान कोरोना पोजेटिव पाए गए है इसलिये थाना को सील किया गया है वही बाहर से आने वाले व्यक्तियों को थाना आना मना कर दिया गया है और  थाने में जितने भी स्टॉफ व अधिकारी है उन्हें भी थाने में ही रहने को कहा गया है सभी पुलिसकर्मियो को कोरोना टेस्ट कराया जाएगा।

थाना के 6 जवानों में कोरोना पोजेटिव मिलने से जिला प्रशासन ने थाना को सील कर अच्छी पहल की है ताकि कोरोना संक्रमण न फैले । पुलिस के अनुसार इस थाना क्षेत्र के लोग अब बगल के रजरप्पा थाने में अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है।

वही गोला थाना क्षेत्र के लोगो को यह जानकारी नही है कि यह थाना सील होने के बाद अब उनकी शिकायत बगल के रजरप्पा थाना में दर्ज होगी, इसी कारण फरियादी अपनी शिकायत लेकर भटक रहे है। ऐसे में पुलिस को चाहिये कि वे अपने स्तर से यह जानकारी जनता तक पहुंचाए ताकि अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिये लोगो को भटकना न पड़े।

Whats App