बकरीद पर्व के मद्देनजर डीसी एवं एसपी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अधिकारियों के साथ की बैठक

उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक ने कोविड-19 के संबंध में भी अधिकारियों के साथ चर्चा की

yamaha

रामगढ़: बकरीद पर्व के मद्देनजर बुधवार को उपायुक्त श्री संदीप सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री प्रभात कुमार के द्वारा ऑनलाइन मीटिंग सॉफ्टवेयर के माध्यम से आगामी बकरीद पर्व के अवसर पर विधि व्यवस्था बनाए रखने के संबंध में प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की गई।
बैठक के दौरान उपायुक्त ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को अपने-अपने प्रखंड अंतर्गत विभिन्न समुदाय के प्रतिनिधियों के साथ आगामी बकरीद पर्व को देखते हुए शांति समिति की बैठक का आयोजन करने का निर्देश दिया। इस दौरान उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे यह सुनिश्चित करें कि बकरीद पर्व के अवसर पर किसी भी प्रकार से कहीं भी सामूहिक कार्यक्रम का आयोजन ना किया जाए एवं लोग अपने अपने घरों में रहकर ही नमाज अदा करें।

बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक श्री प्रभात कुमार के द्वारा सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों, थाना प्रभारियों आदि को आगामी बकरीद पर्व को देखते हुए अपने-अपने क्षेत्रों में प्रभावी रूप से फ्लैग मार्च करने का निर्देश दिया। इस दौरान उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे सुनिश्चित करें कि बकरीद के पर्व पर कहीं पर भी कोई सामूहिक आयोजन ना हो एवं फ्लैग मार्च के द्वारा लोगों को पूर्व में ही सूचित किया जाए कि उन्हें लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए ही पर्व मनाना है।

बैठक के दौरान उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक के द्वारा सभी अधिकारियों को स्पष्ट रूप से निर्देश दिया गया कि आगामी बकरीद पर्व के अवसर पर कहीं पर भी प्रतिबंधित जानवरों की कुर्बानी ना दी जाए। इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक के द्वारा सभी अधिकारियों को निर्देश दिया गया की आगामी पर्व के अवसर पर सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने के उद्देश्य से वे सोशल मीडिया पर विशेष नजर रखें। कहीं पर भी किसी प्रकार की अफवाह की स्थिति उत्पन्न होने पर उस पर तुरंत कार्रवाई की जाए।

बैठक के दौरान उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक के द्वारा सभी अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु सरकार द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन का अनिवार्य रूप से पालन कराने का निर्देश दिया गया। इस दौरान उपायुक्त ने सभी अधिकारियों से कहा कि रामगढ़ जिला अंतर्गत शहरी क्षेत्रों(छावनी परिषद एवं नगर परिषद) को छोड़कर अन्य किसी भी जगह पर कपड़े एवं जूते की दुकानों को खोलने की अनुमति नहीं दी गई है। अगर कहीं भी ऐसा मामला सामने आता है तो उस पर कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही उपायुक्त ने सभी अधिकारियों को पुनः स्पष्ट किया कि जिला अंतर्गत किसी भी क्षेत्र में होटलों के संचालन पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध है अगर किसी भी क्षेत्र में चोरी छुपे किसी होटल के संचालक द्वारा लोगों को कमरे किराए पर दिए जा रहे हैं तो ऐसे मामलों में भी तुरंत कार्यवाही की जाए।

बैठक के दौरान उपायुक्त ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों से उनके उनके क्षेत्र अंतर्गत मनरेगा के तहत हो रहे कार्यों पर विस्तार पूर्वक जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों से कहा कि वे मनरेगा के तहत चल रहे कार्यों पर विशेष रूप से ध्यान दें, प्रतिदिन उसकी समीक्षा करें एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा जारी किए गए फॉर्मेट में जानकारी भरकर उसे जिला स्तर पर भी उपलब्ध कराएं। लॉकडाउन के दौरान देश के अलग-अलग राज्यों से वापस लौटे प्रवासी मजदूरों सहित अन्य जरूरतमंद लोगों को शत प्रतिशत रोजगार उपलब्ध कराने हेतु किए जाने वाले कार्यों पर भी विशेष ध्यान दिया जाए।
बैठक के दौरान अपर समाहर्ता, अनुमंडल पदाधिकारी, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, पुलिस पदाधिकारियों सहित अन्य उपस्थित थे।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.