Ramgarh आर्थिक मंदी की मार झेल रहे कोचिंग संचालको ने एकजुट होने का निर्णय लिया

सरकार से मदद की उम्मीद में इंस्टिट्यूट और कोचिंग संस्था से जुड़े शिक्षक

yamaha

रामगढ : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण लगाए गए लॉकडाउन की विकट परिस्थिति ने पूरे देश की अर्थव्यवस्था को चरमरा दिया है, हर वर्ग की आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है, हर तबका सरकार से मदद की उम्मीद लगाए बैठे हुए है, उसके लिए हर संभव प्रयास भी उसके द्वारा किए जा रहे है ।

उसी कड़ी में पिछले चार माह से मंदी की मार झेल रहे शैक्षणिक संस्थान पर निर्भर इंस्टिट्यूट और कोचिंग के संचालको ने आज एकजुट होकर एक विशेष बैठक का आयोजन किया । बिजुलिया के एक निजी इंस्टिट्यूट में एडवांस कोचिंग के संचालक अनिल शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में रामगढ़ के दर्जनों कोचिंग सेंटर के संचालक और शिक्षक मौजूद हुए ।

बैठक में कोचिंग संस्थान की समस्याओं पर विचार विमर्श किया गया एवं भविष्य में संगठन को मजबूत बनाने को लेकर कई बिंदुओं पर विशेष चर्चा की गई। बैठक में मुख्य रूप से मौजूद श्री अनिल शर्मा ने कहा कि कोरोना महामारी की वजह से उत्पन्न 4 महिनों के लॉकडाउन के कारण कोचिंग संस्थाए बंद रही । जिससे कोचिंग संस्थान से जुड़े शिक्षकों के बीच आर्थिक समस्या उत्पन्न हो गई है तथा बंद के दौरान कोचिंग संस्थान को किराए एवं अन्य खर्च देने में समस्या हो रही है। श्री शर्मा ने कहा की सरकार के द्वारा हर तबके को मदद किया जा रहा है। लेकिन कोचिंग संस्थाओं को कोई सुविधा नहीं मिली है और ना ही सरकार इनकी कोई सूद ले रही है।
उन्होंने सरकार से मदद की गुहार लगाते हुए कहा कि हम शिक्षकों की स्थिति दयनीय हो गई है और बहुत प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो गई है। सरकार हमारी ओर ध्यान दें तो हमारे भी समस्याओं का निदान हो पाएगा।

बैठक में संदीप कुमार, मनीष कुमार, विनय कुमार, संदीप राज,
विनीत पोद्दार, दिनेश कुमार, विरेन्द्र कुमार, शोभा राय, मनोज केशरी, विशाल सिंह, राजन कुमार, बिपूल कुमार, हरिश कुमार आदि
लोग उपस्थित हुए।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.