Logo
ब्रेकिंग
स्वीप के तहत मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक करने हेतु विभिन्न कार्यक्रमों का हुआ आयोजन। कांग्रेसी नेता बजरंग महतो ने किया जनसंपर्क, दर्जनों ने थामा कांग्रेस का दामन । माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी

Ramgarhसाइबर अपराधियों के निशाने पर आए भाजपा नेता धनंजय कुमार पुटूस

सूझ बूझ से साइबर अपराधियों के शिकार होने से बचे भाजपा नेता धनंजय कुमार पुटूस

रामगढ़ : आए दिन साइबर अपराधियों की करतूतों की खबर आती रहती है। लॉक डाउन की अवधि में ऐसे साइबर अपराधी खासे सक्रिय नज़र आ रहे हैं।ऐसा हीं एक वाक्या आज रामगढ़ में चर्चित भाजपा नेता धनंजय कुमार पुटूस के साथ घटा। जिसमे साइबर अपराधों के द्वारा रामगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष मणजी सिंह के नाम से तीस हजार रुपये मांगा गया। जिसकी सूचना श्री पुटूस ने रामगढ़ थाना प्रभारी को एक आवेदन के माध्यम से दी है।

रामगढ़ थाना प्रभारी को दिए आवेदन में धनंजय कुमार पुटूस ने कहा की आज दिनाँक 17/06/2020 को दोपहर 1:31pm को मेरे मैसेंजर में रामगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष श्री मणजी सिंह जी का मैसेज आया और उनके द्वारा बताया गया कि उनके एक मित्र की पत्नी अस्पताल में भर्ती है, तत्काल तीस हजार रुपए की जरूरत है। एवं एक नंबर 9053280220 (सुशील कुमार) दिया गया व इसमे ऑनलाईन पैसा भेजने को कहा गया।

दिया गया नंबर मणजी सिंह का नही होने पर श्री पुटूस को संदेह हुआ और उन्होंने मणजी सिंह को फोन करके कन्फर्म किया तो मणजी सिंह ने आश्चर्य होकर ऐसा कोई भी मैसेज नही भेजने की बात कही। कन्फर्म होने पर पता चल गया कि ये पूरा जाल साइबर अपराधियों के द्वारा फैलाया गया।
पूछे जाने पर धनंजय कुमार पुटूस ने कहा कि मणजी सिंह जी से मेरा निजी संबंध है इसलिए उनको कॉल करके कन्फर्म कर लिए और साइबर अपराधियों के शिकार होने से बच गए।
लेकिन ऐसे अपराधी अन्य लोगो को भी अपना शिकार ना बना लें इसलिए घटना की सूचना थाना को दिए हैं।

nanhe kadam hide