Twitter bio में बदलाव की खबरों पर सिंधिया ने तोड़ी चुप्पी, बोले- कांग्रेस मेरी चिंता न करे

yamaha

भोपाल: ट्विटर बायो में बदलाव की खबरों को लेकर बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने चुप्पी तोड़ते हुए अपने फेसबुक पेज पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कांग्रेस पर हमलावर होते हुए कहा कि कांग्रेस मेरी चिंता न करे। ये राजनीति का नहीं जरुरतमंदों की मदद का समय है। मैं राजनीतिक लाभ, पद या महत्त्वकांक्षा के लिए भाजपा में सम्मलित नही हुआ हूं। मेरा और सिंधिया परिवार का लक्ष्य सदैव जनसेवा का रहा है और उसी दिशा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सशक्त नेतृत्व में पूरे राष्ट्र के साथ चल रहा हूं।

ये है पूरा मामला
सोशल मीडिया में सिंधिया के ट्विटर अकाउंट की एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही थी। इसमें दावा किया जा रहा था कि कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने ट्विटर प्रोफाइल में एक बड़ा बदलाव किया है। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट के बायो से बीजेपी शब्द हटा लिया है। इस सारे घटनाक्रम को मध्य प्रदेश में आने वाले विधानसभा उपचुनावों से जोड़कर देखा जा रहा था साथ ही किसी बड़े उलटफेर के कयास भी लगाए जाने लगे।

PunjabKesari

सिंधिया समर्थकों ने भी खबरों को निराधार बताया 
इससे पहले सिंधिया समर्थक कृष्ण गदगे और सिंधिया के करीबी कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट ने भी इन सारी खबरों को निराधार बताया और कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर सोशल मीडिया चल रही खबरें पूरी तरह से निराधार हैं। सिंधिया ने कांग्रेस छोड़ने के पूर्व अपने ट्विटर अकाउंट के बायो में खुद को क्रिकेट प्रेमी और जनसेवक लिखा था, भारतीय जनता पार्टी में सम्मिलित होने के बाद सिर्फ अपने प्रोफाइल पिक्चर चेंज की थी और कोई चेंज नहीं किया था। जब कोई चेंज हुआ ही नहीं तो फिर बदलने का सवाल ही कहां है। इस विषय पर सोशल मीडिया और मीडिया में चल रही खबरें पूरी तरह आधारहीन और बकवास है।

PunjabKesari

कांग्रेस छोड़ने से पहले बदला था बायो
आपको बता दें कि इससे पहले सिंधिया ने 25 नवंबर 2019 को अपना परिचय बदला था। तब उन्होंने अपने ट्विटर प्रोफाइल पर अपना पद- कांग्रेस महासचिव, गुना लोकसभा सीट से सांसद (2002-2019 तक) और पूर्व केन्द्रीय मंत्री की जगह समाज सेवक और क्रिक्रेट प्रेमी लिखा लिया था। जिसके कुछ ही महीनों बाद सिंधिया कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए थे।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.