लालू प्रसाद बेहतर इलाज के लिए भेजे जाएंगे एम्स, बनी सहमति

लालू प्रसाद यादव से मिलने के लिए पेईंग वार्ड के बाहर बिहार के बाढ़ में छोटा लालू के नाम से पहचाने जाने वाले कृष्णा यादव धरने पर बैठे हुए हैं।

रांची। रिम्‍स के पेइंग वार्ड में लालू प्रसाद का इलाज कर रहे डॉ. डीके झा ने बताया कि लालू प्रसाद को बेहतर चिकित्सा के लिए नई दिल्ली के एम्स भेजा जाएगा। इसके लिए प्रक्रिया की जा रही है। तबीयत पहले के जैसा ही है। चूंकि रिम्स में उनका इलाज करीब डेढ़ साल से चल रहा है। डॉ डीके झा ने बताया कि इनकी जो बीमारी है, ऐसा कुछ स्पेसिफिक नहीं है जो इन्हें सर्जरी या ऑपरेशन करने की जरूरत पड़े।

दवा से ही इनका उपचार करना होगा। लेकिन फिर भी सेकंड ऑपिनियन लेने में कोई हर्ज नहीं है, इसी कारण उन्हें एम्स भेजने की तैयारी चल रही है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि इस प्रक्रिया में 15 दिन से एक महीना लगे। लेकिन जो प्रक्रिया है, उसी के तहत सभी काम किए जाएंगे। इसके लिए सैद्धांतिक सहमति हुई है कि उन्हें एम्स भेजा जाना चाहिए। लालू प्रसाद यादव 15 गंभीर बीमारियों के शिकार हैं। उनका ब्लड शूगर बढ़ता रहता है। लालू प्रसाद की किड़नी थर्ड स्‍टेज में है।

धरने पर बैठे छोटा लालू

लालू प्रसाद यादव से मिलने के लिए पेईंग वार्ड के बाहर बिहार के बाढ़ में छोटा लालू के नाम से पहचाने जाने वाले कृष्णा यादव धरने पर बैठे हुए हैं। वे धरने पर बैठकर लालू प्रसाद से मुलाकात करने की जिद पर अड़े हैं। उनका कहना है कि जब तक उसे उसके भगवान से मिलने नहीं दिया जाएगा, तब तक वह धरना से नहीं हटेगा। वार्ड में लालू की सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मियों द्वारा उसे हटाने की कोशिश की जा रही है लेकिन इसके बावजूद वह धरने पर बैठा हुआ है। कृष्‍णा यादव की आवाज लालू प्रसाद से मिलती-जुलती है। कृष्‍णा यादव उनकी ही शैली में बात करते हैं।

Whats App